बच्चों के जिज्ञासा को संतुष्ट करना शिक्षक और अभिभावक का कर्तव्य : डीएम

229
बाल दिवस के विषय में अपने विचार व्यक्त किया
सहरसा: बच्चे हमारे एवं देश का भविष्य हैं। इनकी प्राथमिकता हीं हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। हर बच्चा अपने आप में विशेष होता है। इनकी रूचि
जिस क्षेत्र के लिए परिलक्षित होती है उन्हें हमें उस दिशा में प्रोत्साहित करना चाहिए। बच्चों पर दवाब नहीं दें। बच्चों के जिज्ञासा को संतुष्ट करना शिक्षक और अभिभावक का कर्तव्य है।
उपरोक्त बातें आज जिलाधिकारी शैलजा शर्मा 14 नवम्बर बाल दिवस के अवसर पर कन्या उच्च विद्यालय सहरसा में आयोजित कार्यक्रम में अपने संबोधन में उन्होंने  कही।
डीएम ने आगे  कहा कि आज लड़कियां आकाश, पानी, धरती किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। लोग कहते
हैं कि जो लड़के कर सकते हैं वो लड़कियां नहीं कर सकती है ऐसी मानसिकता को बदलना चाहिए। लड़कियां अभी भी हिचक रखती हैं उसे तोड़े, वेवाक
होकर अपनी बातें रखें। जिलाधिकारी ने उपस्थित छात्राओं से कहा कि आप काफी महत्वपूर्ण हैं अपने परिवार के लिए और देश के लिए भी। अपना ज्ञान बढ़ायें तभी आप सशक्त होंगी। जो क्षेत्र या विषय आपको पसंद है उसमें आगे बढ़ें अपने अंदर आत्मविश्वास कायम करें। अपने ज्ञान से आप आत्मनिर्भर बनेंगी और इससे आर्थिक सम्बलता भी आएगी। इसके लिए अपने परिवार एवं अभिभावक को विश्वास में लेकर उनसे अपनी बात कहें। किसी भी क्षेत्र में
कैरियर चुनना है तो उसमें अपनी सोच रखें। अगर लड़कियां आगे पढ़ना चाहे तो कुछ भी असंभव नहीं है। जिस क्षेत्र में जाना है उसके प्रति जागरूक रहें।
अपने को कभी कम न समझें। जिलाधिकारी ने विद्यालय के दिनों में तथा आइ.ए.एस. की परीक्षा समय अपने स्मरण से सभी को अवगत कराया।
विद्यालय के प्रधानाध्यापक को उन्होंने कहा कि सभी प्रमुख दिवसों के संदर्भ में बच्चों को जागरूक करें ताकि उनमें इन अवसरों पर सहभागिता के लिए होड़ रहनी चाहिए।
कन्या उच्च विद्यालय में आयोजित उक्त कार्यक्रम में जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बाल दिवस के आयोजन के महत्व के संबंध में बताया। जिलाधिकारी के अनुरोध पर कई छात्राओं-पुष्पा कुमारी, पल्लवी कुमारी एवं अन्य ने बाल दिवस के विषय में अपने विचार व्यक्त किया। शालू प्रिया ने जिलाधिकारी को महिला सशक्तिकरण के प्रतीक के रूप में बताते हुए कहा कि महिलाएं किसी क्षेत्र में कमजोर नहीं हैं।दसवीं कक्षा की रूपा कुमारी को जिलाधिकारी ने बोलने के लिए प्रोत्साहित करते हुए हौसला आफजाई की।विद्यालय में बाल दिवस के अवसर पर चित्रकला, निबंध एवं रंगोली प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। चित्रकला में प्रथम राजकुमारी, द्वितीय दीप शिखा एवं तृतीय प्रगति कुमारी विजेता रही। निबंध प्रतियोगिता में पल्लवी ने प्रथम,अनन्या ने द्वितीय एवं नंदनी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं रंगोली प्रतियोगिता में टीम लीडर के रूप में प्रथम सताक्षी कुमारी, द्वितीय काजल कुमारी
एवं तृतीय नेहा कुमारी रही।जिलाधिकारी ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के चित्र पर अपनी श्रद्धासुमन अर्पित किया।जिलाधिकारी को टीचर्स ट्रेनिंग के प्रशिक्षुओं ने समूह में पुष्पगुच्छ भेंट की। वहीं शालु, प्रकृति, नेहा, कोमल ने स्वागत गान के द्वारा जिलाधिकारी का स्वागत किया।इस अवसर पर जिला शिक्षा पदाधिकारी,विद्यालय के प्राचार्य, शिक्षकगण सहित काफी संख्या में छात्राएं उपस्थित थे।