नहाय खाय के साथ लोक आस्था के महापर्व छठ का अनुष्ठान शुरू

115

पटना डेस्क :4 दिनों तक चलने वाले इस महापर्व का पहला दिन नहाय खाय का है। अगले चार दिन तक सूर्य देव और छठ मइया की उपासना की जाएगी। इस पर्व की खास रौनक बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और पड़ोसी देश नेपाल में देखने को मिलती है। मान्यता है कि छठ पूजा करने से छठी मैया प्रसन्न होकर सभी की मनोकामनाएं पूर्ण कर देती हैं।दिवाली खत्म होते ही लोग छठ की तैयारी में लग जाते हैं। छठ की शुरुआत ‘नहाय खाय’ से होती है।आज 31 अक्टूबर को ‘नहाय खाय’ मनाया जा रहा है। इस दिन जो भी छठ करने वाले व्यक्ति हैं वह स्नान करने के बाद नए कपड़े पहनते हैं और उसके बाद भी खाना खाते है। ‘नहाय खाय’ के दिन एक बात का खास ध्यान रखा जाता है वह यह कि खाना में किसी भी प्रकार के मसाला और लहसन और प्याज न मिलाया जाए। इसका साफ अर्थ यह है कि काफी साधारण तरीके से आज के दिन खाना बनाया जाता है।लोक आस्था के महापर्व छठ का अनुष्ठान शुरू

नहाय- खाय में कद्दू, चना, चावल का प्रसाद व्रती करेंगे ग्रहण
नहाय- खाय के बाद 1 नवंबर को है खरना
खरना में गुड़ की खीर, रोटी का प्रसाद करेंगे ग्रहण
खरना के बाद होगा 36 घंटे का निर्जला व्रत
2 नवंबर को सायंकालीन, 3 नवंबर को उगते सूर्य को देंगे अर्घ्य ।