नियोजित शिक्षकों के समर्थन में आए पूर्व सांसद पप्पू यादव

246

हर हाल में मिले समान काम – समान वेतन

पटना : शिक्षक दिवस पर बिहार की राजधानी पटना में नियोजित शिक्षकों ने राज्‍य सरकार की कार्रवाई की चेतावनी के खिलाफ जाकर  गदर्नीबाग में विशाल धरना दिया और’समान काम-समान वेतन’ की मांग को लेकर जोरदार विरोध-प्रदर्शन किया और धरने पर बैठे। शिक्षकों के आंदोलन को जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व सांसद पप्‍पू यादव ने पूरी तरह से समर्थन दिया और कहा कि शिक्षकों पूरे सम्‍मान के साथ समान काम के लिए समान वेतन हर हाल में मिलना चाहिए।जाप (लो) सुप्रीमो ने इस दौरान नीतीश सरकार और प्रदेश के शिक्षा मंत्री को जमकर कोसा। उन्‍होंने कहा कि बिहार के शिक्षा मंत्री को कुछ भी नहीं पता। वे बातचीत की बात तो करते हैं,लेकिन उसके बाद सब गुर गोबर हो जाता है। नीतश सरकार ने बिहार में शिक्षा को पहले ही गर्त में पहुंचाया हुआ है और अब शिक्षकों की हकमारी कर उनका अपमान कर रहे हैं।उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार प्रदेश में एक तानाशाह की तरह राज करना चाहते हैं, इसलिए वे अब शिक्षकों के लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन कर रहे हैं। नियोजित शिक्षकों को प्रदर्शन की अनुमति भी नहीं दी जा रही है। यह नेपोलियन और हिटलर का देश नहीं है। शिक्षकों की बात नहीं मानी गई तो हंगामा होगा। सरकार ने जो  तानाशाही रवैया अपनाया हुआ है और जो शिक्षकों के साथ भेदभाव किया जा रहा है, वो अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बता दें कि शिक्षक दिवस के दिन राजधानी के आर ब्लॉक से लेकर गर्दनीबाग इलाका सील रहने के बाद भी शिक्षक अपनी रणनीति में कामयाब हुए और गर्दनीबाग में हजारों की संख्या में पहुंचकर प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में नियोजित शिक्षकों को पूर्व सांसद पप्पू यादव का भी साथ मिला। प्रदर्शन के दौरान पप्पूर यादव के साथ राष्ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह और छात्र नेता शशांक मोनू के साथ बड़ी संख्या  में छात्र नेता शामिल हुए।