हत्याकांड के विरोध में फ्रेंड्स ऑफ आनंद का बंद रहा ऐतिहासिक

645

करण के हत्यारों की गिरफ्तारी व जिले में बदत्तर कानून-व्यवस्था को लेकर फ्रेंड्स ऑफ आनंद का सहरसा बंद रहा असरदार 

सहरसा :जिले में बदत्तर कानून-व्यवस्था व करण के हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर फ्रेंड्स ऑफ आनंद का मंगलवार को सहरसा बंद ऐतिहासिक रहा। बंद को आमजनों का भरपूर मिला समर्थन।

बंद के दौरान शहर की सभी दुकानें स्वतः स्फूर्त बंद रही। फ्रेंड्स ऑफ आनंद के कार्यकर्त्ता सुबह से ही झंडा बैनर के साथ शंकर चौक पर पहुचकर बाजार को बंद कराने निकल पड़े। कार्यकर्त्ता शंकर चौक से निकलकर डी०बी० रोड, थाना चौक, नया बाजार, रिफ्यूजी चौक, मीर टोला, महावीर चौक, वीआईपी रोड, तिवारी टोला, पंचवटी चौक, कोशी चौक होते हुए सभी दुकानों को बंद कराते हुए थाना चौक पहुचे और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया। कार्यकर्ता करण के हत्यारों को गिरफ्तार करो, जिले में बदत्तर कानून-व्यवस्था में सुधार करो के नारे लगा रहे थे। बंद के दौरान स्वास्थ सेवाओं को छोड़कर स्कूल, कॉलेज, बाजार, यातायात पूर्णतः ठप्प रहा। बंद के दौरान आमजनों को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद लवली आनंद कहा कि में हत्या, लूट, अपहरण, रंगदारी, जमीन कब्जा, गांजा, शराब, कोरेक्स, नशीली पदार्थों का अवैध कारोबार आज चरम पर है। शहर में आए दिन चोरी की घटना में बेतहाशा वृद्धि हुई है। गिरती विधि- व्यवस्था और अपराध को लेकर आम शहरवासियों में दहशत का माहौल है। लोगों का जीना मुहाल हो गया है। पूर्व सांसद ने बताया कि बंद के पीछे हमारा मकसद जिले में बेहतर कानून-व्यवस्था तथा करण के हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी बाद स्पीडी ट्रायल चलाकर सख्त से सख्त सजा दिलाने की है। पुर्व सांसद के बेटे अंशुमान ने कहा कि यहाँ किसी की जान-माल सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था महज एक मजाक बनकर रह गया है। अपराधियों के मन से वर्दी का खौफ पूरी तरह खत्म हो चुका है। ऐसे में अब सजग सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं का चुप बैठना नामुमकिन है। मामले में अगर पुलिस प्रशासन इसी तरह हाथ पर हाथ धरे बैठी रही तो 15 अगस्त के बाद फ्रेंड्स ऑफ आंनद जिला बंद और माह के अंतिम सप्ताह में पूरी तैयारी के साथ के साथ पूरे कोसी प्रमंडल में बंद और चक्का जाम आयोजित करेगा। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया है कि जब की पास के एक निजी क्लीनिक में सीसीटीवी कैमरा उपलब्ध था तो पुलिस ने उसके फुटेज क्यों नहीं उठाए। वही फ्रेंड्स ऑफ आनंद के जिला महासचिव महबूब अली केसर ने कहा कि करण के हत्यारों को प्रशासन अविलंब गिरफ्तार करें। उन्होंने कहा कि जिले में कानून व्यवस्था बद से बदत्तर होती जा रही हैं और प्रशासन हाथ पे हाथ धरकर बैठी हुई है। बाजार बंद को सफल बनाने में फ्रेंड्स ऑफ आंनद के जिलाध्यक्ष अजय कुमार बबलू, प्रदेश महासचिव राजन आनंद, बी०पी०पा० के जिलाध्यक्ष चन्दन सिंह, प्रवक्ता चुन्नु भदुरिया, अनिता कुशवाहा, राजीव सिंह, सुरेश झा गोपाल, इंजीनियरिंग रमेश सिंह, गुंजेश्वर प्रसाद सिंह, हम के जिलाध्यक्ष रामरतन ऋषिदेव, उपाध्यक्ष मृत्युंजय मिश्रा, रौशन झा, अभिनव सिंह, सागर सिंह ‘नन्हें’, सुमन शांडिल्य, रतन दुबे, संदीप राज, अभिराम सिंह, सौरभ वत्स, आदर्श झा सहित कई शामिल थे।