मां-बेटों ने मिलकर एक साजिश के तहत की लालू यादव को समाप्‍त करने की कोशिश : पप्‍पू यादव

981

परिवार से बाहर निकल कर लालू यादव बनायें मजबूत विकल्‍प, तो हम देंगे समर्थन

16 जुलाई को जन अधिकार पार्टी (लो) प्रदेश के विभिन्‍न मुद्दे को लेकर करेगी विधान सभा का घेराव

 पप्‍पू यादव ने किया पार्टी का विस्‍तार, रघुपति सिंह बने बिहार प्रदेश कार्यकारिणी के अध्‍यक्ष

पटना : जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व सांसद  राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने  लालू यादव के बिगड़े हालात का जिम्‍मेवारउनकी पत्‍नी व उनके बेटों को ठहराया। पप्‍पू यादव ने पटना में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को उनका परिवार तबाह करने की तैयारी में है। वे आज बेहद बहुत तनाव में हैं। हम उनके हर दुख में साथ खड़े हैं। हम उनकी विचारधारा के साथ शुरू से हैं। मैं उन लोगों में से नहीं जो सत्ता की खातिर अपने पिता को जेल में बंद रखते हैं। उन्‍होंने कहा कि यदि लालू यादव को कुछ होता है तो इसके लिए केवल और केवल उनका परिवार ही जिम्‍मेदार होगा। इसकी पूरी जिम्मेदारी एक मां और उनके तीन बच्चों पर होगी। उन्‍होंने कहा कि लालू यादव के दोनों लाल डरे हुए हैं और वर्ष 2020 में ये बुरी तरह से हारेंगे।

इससे पहले पप्‍पू यादव ने मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार, बलात्‍कार और कस्‍तूरबा स्‍कूल में यौन शोषण के मुद्दे पर राज्‍य की सरकार और विपक्ष को घेरा। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य की मौजूदा सरकार सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर कहती है कि प्रदेश में डॉक्‍टर और नर्सों की भारी कमी है। केंद्र सरकार हलफनामा देकर कहती है कि दोनों सरकारें मिलकर काम कर रही है। दोनों सरकारें मामलें में अपनी गलती स्‍वीकारते हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री कहते हैं कि राज्‍य में स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं की घोर कमी है, जिसे राज्‍य सरकार अनदेखी करती है। फिर 350 बच्‍चों की मौत के बाद सरकार हलफनामा के जरिये कहती है कि उनके पास सुविधाओं की कमी है। तो क्‍या ऐसे सरकार को एक मिनट भी रहने का अधिकार है।

उन्‍होंने कहा कि राज्‍य का स्‍वास्‍थ्‍य बजट 9 हजार करोड़ का है फिर भी राज्‍य सरकार कहती है कि सुविधाओं की कमी है। तो क्‍या स्‍वास्‍थ्‍य बजट का ऑडिट होगा ? उन्‍होंने एम्‍स के रिपोर्ट के हवाले से कहा कि मुजफ्फरपुर में बच्‍चों की मौत का मुख्‍य कारण कुपोषण और स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं में कमी है। यह बेहद गंभीर मसला है कि 15 सालों से जो सरकार सत्ता में है, वो कार्रवाई करने की जगह अपनी असमर्थता जाहिर कर रही है। ऐसे में इस सरकार को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है। पप्‍पू यादव ने विपक्ष के नेता पर भी जमकर निशाना साधा और कहा कि जो लोक सभा चुनाव के 43 बाद भी मुजफ्फरपुर और लॉ एंड ऑर्डर पर एक सवाल उठा नहीं सकता, ऐसे विपक्ष को भी सदन में रहने का कोई  अधिकार नहीं है।

पप्‍पू यादव ने वर्तमान सरकार की तुलना माफिया राज से की और कहा कि जो लोग आज बीते 15 सालों को जंगलराज बता कर सत्ता में आये, आज वही लोग माफिया राज चला रहे हैं। इस वजह से बिहार की जनता भगवान भरोसे है। सुशासन बाबू किस विकास की बात करते है। जनता उनके माफिया राज को समझती है और जंगलराज व माफियाराज में पिसने के बाद इससे छुटकारा पाना चाहती है। उन्‍होंने कहा कि कस्‍तूरबा स्‍कूल समेत बिहार में लगभग छात्रावास में बच्चियों के साथ यौन शोषण की घटना होती है, जिसमें नेता से लेकर प्रशासनिक अधिकार तक की संलिप्‍तता है। ऐसे में क्‍या सरकार इसकी जांच सीबीआई से कराने का हिम्‍मत दिखायेगी। वहीं, बिहार में 3 महीने में 300 से ज्‍यादा बलात्‍कार और गैंग रेप की घटनाएं हुई हैं। सरकार ने मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम के बाद भी कोई सबक नहीं लिया, जिसका यह नतीजा है। पप्पू यादव ने राज्य की बिगड़ते कानून-व्यवस्था और मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत को लेकर आंदोलन करने की घोषणा की और कहा कि 16 जुलाई को पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ विधानसभा का घेराव करेगी।

संवाददाता सम्‍मेलन में राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष अखलाक अहमद,  राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, प्रदेश अध्यक्ष रघुपति सिंह, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू, एमएल जयसिमहा, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह कुशवाहा, उमैर खान प्रदेश प्रधान महासचिव सूर्यनारायण साहनी उपस्थित थे।