दरभंगा आईरा की बड़ी कामयावी। लम्बी लड़ाई के बाद दिवंगत पत्रकार रंजीत झा के पत्नी को मिला आपदा प्रबन्धन से 4 लाख की राशि

दरभंगा आईरा की बड़ी कामयावी। लम्बी लड़ाई के बाद दिवंगत पत्रकार रंजीत झा के पत्नी को मिला आपदा प्रबन्धन से 4 लाख की राशि
दरभंगा आईरा की बड़ी कामयावी। लम्बी लड़ाई के बाद दिवंगत पत्रकार रंजीत झा की पत्नी को मिला आपदा प्रबन्धन से 4 लाख की राशि । आपको बताते चले कि बीते 15 अप्रेल 2018 को सरक दुर्घटना में मृत्यु हो गईं थी जिसको लेकर दरभंगा आईरा संगठन के सभी साथी के अथक प्रयास से यह कामयावी मिली और पीड़ित परिवार को अच्छा खासा राशि मिला।
इस मुश्किल मुहिम में रंजीत जी का पुत्र सिद्धार्थ ने हमारे आईरा परिवार को लगातार संपर्क बनाए रखा और हमलोग भी ससमय दरभंगा आपदा विभाग से लेकर गौरा बौराम सीओ तक संपर्क बनाए रखें। जिसका परिणाम आज देखने को मिला ।
आपदा विभाग में 1 माह पूर्व फाइल गुम हो गया था।जब निर्गत आगत पंजी के माध्यम से फाइल खोजा गया।फाइल मिलने के बाद अंचल में राशि नहीं था जहां से जिला को डिमांड मंगवाया गया, फिर जिला से राशि भेजा गया और आज पीड़ित परिवार को राशि मिल गया।
आप सभी आईरा संगठन के परिवार को साधु वाद। पत्रकार मित्रों से आग्रह है दरभंगा के पत्रकारों के शुरू से अबतक के अथक प्रयास को सराहना मिले। जय आईरा, जय मिथिला , जय बिहार।
आईरा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एंबेसडर तारिक जकी एवं प्रदेश अध्यक्ष सुमन मिश्रा नें दरभंगा आईरा के इस कामयाबी पर खुशी जाहिर क़ी है । उन्होंने इस कामयाबी को दरभंगा आईरा के एकता क़ी जीत बताएं हैं ।
एकता में बल है ।