सिमरी निवासी पुरुषोत्तम एन सिंह को मिला ”साहित्य शताब्दी सम्मान” पुरस्कार

100 साहित्य-सेवकों को सम्मानित किया गया
मधुबनी – राजनगर प्रखंड अंतर्गत सिमरी निवासी पुरुषोत्तम नरायण सिंह को हिन्दी साहित्य के प्रमुख पुरस्कारों में से एक ”साहित्य शताब्दी सम्मान” पुरस्कार से नवाजा गया है। ये कार्यक्रम नौ जून को कदमकूआ पटना में आयोजित हुआ था । श्री सिंह को ये पुरस्कार हिन्दी साहित्य में उत्तम योगदान के लिए दिया गया है ।
श्री सिंह कुछ महीने पहले ही , बिहार दूरदर्शन के निदेशक पद से सेवानिवृत हुए हैं। उनके पिता स्वर्गीय लक्ष्मेष्वर प्रसाद सिंह, जिले के प्रख्यात शिक्षक थे ।
उनके इस उपलब्धि पर ग्रामीणों में काफी खुशी का माहौल बना हुआ है । ग्रामिण राजेश सिंह नें बताया क़ी इस उपलब्धि पर हम ग्रामिण अपनेआपको गौरवांवित महसूस कर रहे हैं । उन्होने अपनी इस उपलब्धि से गांव के साथ साथ प्रखंड और जिले का भी नाम रौशन किए हैं।
पुरस्कार प्राप्त करने के बाद श्री सिंह नें अपने फेसबुक पेज पर अपने खुशी जाहिर करते हुए लिखें हैं कि, बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन के सौ साल पूरे होने के उपलक्ष्य में “साहित्य शताब्दी सम्मान” पाकर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ। इस अवसर पर भारतवर्ष के कोने कोने से आये 100 साहित्य-सेवकों को सम्मानित किया गया।