पुलिस को मिली कामयाबी, ग्राहक सेवा लूट कांड का हुआ उद्भेदन, दो गिरफ्तार

दरभंगा पुलिस को मिली कामयाबी, ग्राहक सेवा लूट कांड का हुआ उद्भेदन, दो गिरफ्तार
ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा
दरभंगा — दरभंगा पुलिस को बीते दिनों हुए एक लूटकांड के उदभेदन में कामयाबी मिली है। विदित हो कि घनश्यामपुर थाना क्षेत्र में 11 मई को लूट के घटना के संबंध में घनश्यामपुर थाने कांड संख्या 93/19 मामला दर्ज किया गया था। जिसमें ग्राहक सेवा केंद्र में काम करने वाले एजेंट से 6 लाख रुपए की लूट करते हुए पैर में गोली मार दी थी। इस संबंध में वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम ने पत्रकारों को बताया कि इस घटना को लेकर पुलिस उपाधीक्षक बेनीपुर उमेश्वर पांडे के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई थी। जिसके बाद पुलिस ने अनुसंधान जारी करते हुए मोबाइल लोकेशन के आधार पर इस कांड के सूत्रधार रामप्रसाद सदा के पुत्र आनंद सदा जो किरतपुर थाना जमालपुर का रहने वाले को गिरफ्तार किया और इसने स्वीकारोक्ति बयान में बताया कि इसके द्वारा 5 लोग जिसमें राजीव सदा घनश्यामपुर, राहुल पांडे थाना भेजा, विक्की पासवान घोड़ाडीहा, जितेंद्र कुमार उर्फ कारी यादव थाना लखनौर सभी जिला मधुबनी और चंदन यादव थाना सकतपुर दरभंगा इसमें शामिल है। इस कांड में गिरफ्तार अपराधी आनंद सदा की निशानदेही पर अप्राथमिक अभियुक्त राजीव सदा को गिरफ्तार किया गया एवं अप्राथमिकी अभियुक्त चंदन यादव को भी गिरफ्तार किया गया है। यह अपने जुर्म को कबूल करते हुए बयान में बताया कि अपने साथ ही विक्की पासवान एवं कारी यादव के साथ मिलकर उजले रंग के बिना नंबर के अपाची मोटरसाइकिल से ढाई लाख रुपए एवं मोबाइल लूटे जाने की बात स्वीकार किया। जिसमें आनंद सदा राजीव पांडे के द्वारा लाइनर का काम करने की बात बताया चंदन यादव की निशानदेही पर लूट के 63000 रुपए चंदन के घर से बरामद हुआ है। इसके द्वारा स्वीकार किया गया कि लूट में 70 हजार रुपए उन्हें हिस्सा मिला जिसमें से 7हजार खर्च हो गया। 30000 रूपय कारी यादव को दिया गया है। बाकी पैसा और मोबाइल विकी पासवान ने रख लिया है। वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इसमें शामिल अन्य अपराधियों के पकड़ के लिए पुलिस छापामारी कर रही है। वहीं पुलिस टीम में शामिल पदाधिकारियों व पुलिसकर्मियों को पुरस्कार दिया जाएगा।