शिक्षिका को अकेले में ऑफिस बुलाते हैं हेडमास्टर

2225

मध्य विद्यालय बेनहर के हेडमास्टर की अश्लील हरकत से परेशान हैं शिक्षिका

महिला टीचर ने प्रधानाध्यापक पर अकेले ऑफिस बुला कर अश्लील बात करने सहित लगाये कई गंभीर आरोप

पीड़ित शिक्षिका ने सीएम, डीएम, कमिश्नर सहित हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को आवेदन भेज की हेडमास्टर की शिकायत 

शिक्षा विभाग के उपसचिव ने पूरे मामले में दिये जांच के आदेश, डीइओ कार्यालय में दर्ज हुआ पीड़ित शिक्षिका का बयान 

अधिकारियों से शिकायत के बाद हेडमास्टर द्वारा पीड़ित शिक्षिका को झूठे केस में फंसाने की रची गयी साजिश 

पीड़ित शिक्षिका, मध्य विद्यालय बेनहर बोली…

15 फरवरी 2019 को स्कूल की कक्षा में बच्चों को पढ़ा रही थी. अचानक हेडमास्टर राजीव रंजन कक्षा में प्रवेश कर गये और कहने लगे कि बहुत शिकायत करती हो, अपशब्द का प्रयोग करने लगे. हेडमास्टर की करतूत को भांप उपरी तल्ला स्थित कक्षा से निकल कर भागी, पीछे-पीछे हेडमास्टर भी आने लगे. इस दौरान हेडमास्टर ने नाजुक अंगों को छूने की कोशिश की. नीचे में पढ़ा रही एक शिक्षिका के कमरे में घुस कर दरवाजा बंद कर लिया. तब जाकर हेडमास्टर के चंगुल से बच पायी. तुंरत ही इसकी सूचना डीइओ, बीइओ को मोबाइल से दी गयी.  इससे पहले भी हेडमास्टर द्वारा बार बार अकेले ऑफिस में बुला कर अश्लील बातें व हरकत करने की शिकायत बीइओ से की गयी थी. हेडमास्टर के ताजा प्रकरण की शिकायत डीएम से लेकर सीएम को आवेदन देकर की गयी है. अब हेडमास्टर द्वारा झूठे केस में फंसाने की साजिश रची जा रही है.

मुखिया जी बोले चन्द्रशेखर प्रसाद सिंह, दहमा खैरी खुटहा

मध्य विद्यालय बेनहर के हेडमास्टर राजीव रंजन के बारे में काफी शिकायत मिल रही है. बीते दिनों हेडमास्टर द्वारा दलित बच्चों को उकसा कर एक शिक्षिका को झूठे केस में फंसाने की साजिश रची गयी. शिक्षिका द्वारा शिकायत पर विद्यालय पहुंच मामले की छानबीन की गयी. जिसमें हेडमास्टर की साजिश का खुलासा हुआ तो उन्हें सुधरने की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया. आये दिन हेडमास्टर द्वारा गंदी राजनीति किये जाने के कारण विद्यालय की पठन-पाठन से लेकर अन्य व्यवस्था चरमरा गयी है. छात्रवृति से लेकर अन्य सरकारी योजनाओं में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की जा रही है. जिसकी शिकायत डीएम, डीइओ सहित अन्य उच्चाधिकारियों को करके प्रधानाध्यापक पर कार्रवाई की मांग की गयी है. अगर जल्द ही प्रधानाध्यापक पर कार्रवाई नहीं हुई तो स्कूल बच्चों के साथ समाहरणालय पहुंच कर आंदोलन किया जायेगा.

बोले अनिरुद्ध कुमार, डीएम

मध्य विद्यालय बेनहर की शिक्षिका ने आवेदन देकर प्रधानाध्यापक पर प्रताड़ित करने सहित कई गंभीर आरोप लगाये हैं. पूरे मामले में डीइओ को जांच कर कार्रवाई का आदेश दिया गया है.

बोले राजीव रंजन, प्रधानाध्यापक, मध्य विद्यालय बेनहर

मेरे उपर शिक्षिका सहित ग्रामीणों द्वारा लगाये जा रहे सारे आरोप बेबुनियाद हैं. साजिश के तहत विद्यालय की शिक्षिका द्वारा प्रताड़ित करने सहित अन्य आरोप लगाये गये हैं. पूरे मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गयी है.

खगड़िया डेस्क:  अलौली प्रखंड के मध्य विद्यालय बेनहर के हेडमास्टर पर एक शिक्षिका ने अश्लील हरकत करने सहित कई गंभीर आरोप लगाये हैं. पीड़ित शिक्षिका ने हेडमास्टर राजीव रंजन की शिकायत सीएम, डीएम सहित हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश समेत उच्चाधिकारियों से करते हुए कार्रवाई की मांग की है. शिक्षिका की शिकायत पर शिक्षा विभाग के उपसचिव ने पूरे मामले में डीइओ को जांच के आदेश दिये हैं. जिसके आलोक में डीइओ कार्यालय में पीड़ित शिक्षिका का बयान कलमबद्ध किया गया. बता दें इससे पहले भी मध्य विद्यालय बेनहर के हेडमास्टर पर छात्रवृति सहित अन्य सरकारी योजनाओं में हेराफेरी के आरोप लग चुके हैं. लेकिन विभागीय अधिकारियों को मैनेज कर मामले को दबा दिया गया. इधर, पूरे मामले में शिक्षिका की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए डीएम अनिरुद्ध कुमार ने डीइओ को पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई का आदेश दिया है. 

शिक्षिका को अकेले में ऑफिस बुलाते हैं हेडमास्टर 

मध्य विद्यालय बेनहर में कार्यरत पीड़ित शिक्षिका ने बताया कि हेडमास्टर राजीव रंजन अकेले में ऑफिस बुलाते हैं. जहां अश्लील हरकत व बातें की जाती है. प्रधानाध्यापक के गलत हरकत का विरोध करने पर झूठे मामले में फंसा कर नौकरी से हाथ धोने की धमकी दी जाती है. इसकी सूचना तीन महीने पहले भी बीइओ को दी गयी थी लेकिन मामला दबा दिया गया. इसकी भनक लगते ही प्रधानाध्यापक द्वारा प्रताड़ना का दौर बढ़ गया है. हेडमास्टर के गलत आचरण के कारण काफी परेशानी हो रही है.

इज्जत बचाने के लिये बंद करना पड़ा दरवाजा

पीड़ित शिक्षिका ने बताया कि 15 फरवरी 2019 को वह अपने कक्षा में बच्चों को पढ़ा रही थी. इसी दौरान अचानक हेडमास्टर श्री रंजन कक्षा में घुस कर कहने लगे कि बहुत शिकायत करती हो और गाली-गलौज सहित अपशब्द का प्रयोग करने लगे. शिक्षिका ने बताया कि प्रधानाध्यापक की मंशा को भांप वह जब कक्षा से बाहर भाग कर दूसरे कक्षा में पढ़ा रही एक अन्य शिक्षिका के पास पहुंची. इस दौरान सीढ़ी से उतरने के दौरान हेडमास्टर ने छेड़छाड़ की कोशिश की. लेकिन किसी तरह भाग कर वह दूसरे कक्षा में जाकर अंदर से दरवाजा बंद कर लिया तब जाकर उसकी इज्जत बची. इसकी शिकायत तुरंत ही डीइओ, बीइओ से की गयी. फिर बाद में लिखित आवेदन देकर इसकी सूचना दी गयी. 

हेडमास्टर की साजिश का हुआ खुलासा 

पूरे मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से किये जाने के बाद मध्य विद्यालय बेनहर के प्रधानाध्यापक ने स्कूल के दलित बच्चों व उनके अभिभावकों को उकसा कर पीड़ित शिक्षिका को झूठे मामले में फंसाने के लिये घिनौनी साजिश रची. जिसकी सूचना मिलने पर जांच के लिये स्कूल पहुंचे बीइओ रामकुमार सिंह, दहमा खैरी खुटहा के मुखिया चन्द्रशेखर सिंह ने दलित बच्चों के साथ भेदभाव के मामले को झूठा पाया. मुखिया श्री सिंह ने बताया कि हेडमास्टर को अपनी आदत से बाज आने की चेतावनी दी गयी है. अगर जल्द ही ऐसे हेडमास्टर पर कार्रवाई नहीं हुई तो समाहरणालय में बच्चों के साथ पहुंच कर आंदोलन का शंखनाद किया जायेगा.