आधे दर्जन कांड के नामजद अभियुक्त की गोली मार कर हत्या

5074
दिन-दहाड़े गोली मारकर हत्या

सहरसा@भार्गव भारद्वाज/कुणाल किशोर :शहर के सपटियाही के रामफल टोला में वांछित अपराधी राधे ठाकुर की अज्ञात  अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। सोमबार दोपहर12 बजे के करीब शहर से 4 किमी दूर रामफल टोला से पुलिस ने शव को बरामद किया है। मृतक के सिर,पेट,छाती में करीब आधे दर्जन गोली मारने का कयास लगाया जा रहा है । फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। लेकिन चर्चा है कि मृतक राधे ठाकुर अपराधी प्रवृत्ति के साथ साथ ज़मीन के अवैध धंधे में कई अपराधियों से अदावत पाल रखा था और इसी  चक्कर में  ही उसकी हत्या हुए है। 

प्राप्त जानकारी अनुसार स्थानीय ग्रामीणों ने  देख इसकी सूचना पुलिस को दी। जानकारी पाकर दलबल के साथ मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष राजमणि ने शव को कब्जे में लेकर अंत्यपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल लाया।

घटना की जानकारी मिलते ही परिजन भी सदर अस्पताल पहुंचे।परिजनों का रो रोकर बुरा हाल था और हत्या में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग करते पोस्टमार्टम कराने से इंकार करते रहे । काफी मान-मनोवल के बाद परिजन पोस्टमार्टम कराने को तैयार हुए ।पोस्टमार्टम होने के बाद शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया ।

इधर मृतक राधे ठाकुर के भाई रंजन ठाकुर एवं मां पूर्व समिति सदस्य बरेशर निवासी फूल देवी ने नंदलाली के अशोक यादव,हकपडा के शमशेर आलम एवं अफसर आलम पर हत्या करने का आरोप लगाया ।

राधे ठाकुर पर कई संगीन कांड था दर्ज,पुलिस को थी तलाश

मृतक राधे ठाकुर प्रभु पासवान,कुंदन सिंह हत्याकांड में नामजद अभियुक्त था ।और इसके ऊपर बिहरा,बनगांव,सौरबाजार,सदर थाना क्षेत्र में लूटपाट का मामला पूर्व से दर्ज था ।मृतक क्ई संगीन मामले का बांछित अपराधी था और पुलिस को महीनों से इसकी तलाश थी ।

वहीं इस बाबत एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि राधे ठाकुर क्ई संगीन मामले में बांछित था,लूट,हत्या जैसी कई संगीन मामले में पुलिस को लंबे समय से तलाश थी ।पुलिस हर बिंदु पर अनुसंधान कर रही है जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

इस दौरान सदर अस्पताल में जदयू नेता अक्षय झा,बरेशेर के पूर्व मुखिया मनोज पांडेय,सदर अस्पताल सुधार सँघर्ष समिति के अध्यक्ष मंजीत सिंह,आज़ाद युवा विचार मंच के शैलेश झा,ब्राह्मण महा सचिव के रमण झा सहित अन्य परिजनों को समझाते दिखे ।