मधुबनी / राजनगर – भीषण आंधी बारिश और तूफान के कारण कई परिवार बेघर, खुले आसमान में रहने को मजबूर।

भीषण आंधी बारिश और तूफान के कारण कई परिवार बेघर, खुले आसमान में रहने को मजबूर।
राजनगर – स्थानीय प्रखंड अंतर्गत सीगीयौन पंचायत के कई वार्डों के गरीब परिवार खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हो गए हैँ। बीते छः अप्रील को आए भीषण तूफान के कारण यहां पर कई परिवार के घर धाराशाही हो गए हैँ।
तूफान के पांच दिन बाद जब इस पंचायत के वार्ड नंबर बारह में स्थिति का जायजा लेने हमारी टीम पहुंची, तो तूफान के भयावह स्थिति को देख हमलोग दंग रह गए। राजाराम चौपाल, गोपाल यादव, बैद्यनाथ चौपाल, जीतन यादव, पवन यादव, राजकुमार यादव, रामबाबू चौपाल एवं अन्य गरीबों का घर पूरी तरह से ध्वस्त हो चुका है। वहीं राम आशीष चौपाल, लक्ष्मण चौपाल, राजू चौपाल, ललित यादव, कमल पासवान, संसारी यादव जैसे सैंकड़ों परिवार ऐसे हैँ जिनके मकान के एलेबेस्टस तूफान के कारण उड़कर चकनाचूर हो चुका है। एलेबेस्टस उड़ने एवं पेड़ गिरने से गांव के कई महिला, पुरुष एवं बच्चे गंभीर एवं आंशिक रूप से घायल भी हुए हैँ।
ग्रामीणों का कहना है कि तूफान आने के लगभग एक सप्ताह बीत चुका है परंतु सरकारी सहायता अभीतक नहीं मिल पाई है। वहीं पंचायत के मुखिया नुसरत परवीन नें कहा कि तूफान के तुरंत बाद हमलोगों नें इस पंचायत में तूफान से हुए नुकसान का ब्यौरा लिखित रूप में अंचलाधिकारी को दिया था। उसके बाद प्रखंड से कुछ अधिकारी गांव आकर मुआयना भी किए। परंतु सरकारी सहायता अभी गांव वालों को नहीं मिल पाई है।
जब इस बाबत अंचलाधिकारी राजनगर सह प्रशिक्षु आईएस कुमार गौरव से बात की तो उन्होंने आपदा राहत के तहत जिन परिवारों का घर, पूर्ण एवं आंशिक रूप से क्षति हुई है, उन्हें राहत पहुंचाने का कार्य शुरू कर देनें की बात कही।