सरकार और विपक्ष सैनिकों की शहादत पर राजनीति न करें : राम नरेश सिंह

111

सवर्ण समाज को दबाने का काम कर रही है सरकार और विपक्ष : विवेक शर्मा

पटना:  सवर्ण एकता मंच के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष सह पूर्व विधायक राम नरेश सिंह ने आज सरकार और विपक्ष पर सैनिकों की शहादत पर राजनीति करने का गंभीर आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि सरकार और विपक्ष सेना की शहादत पर राजनीति न करें। हमारे वीरों ने हमेशा अपनी देश की हिफाजत के लिए आगे बढ़कर तैयार रहते हैं। इसलिए राजनीतिक दल उनपर राजनीति करना बंद करें। राम नरेश सिंह आज पटना के श्रीकृष्‍ण मेमोरियल हॉल में सवर्ण एकता मंच द्वारा आयोजित महान स्‍वतंत्रता सेनानी व मजदूर नेता स्‍वामी सहजानंद सरस्‍वती की जन्‍मजयंती और देश के लिए शहीद हुए स्‍वतंत्रता सेनानियों व अमर शहीदों के यादगार दिवस पर बोल रहे थे।

उन्‍होंने कहा कि सवर्ण समाज एससी – एसटी एक्‍ट का विरोध नहीं करती है न ही उनके आरक्षण का विरोध करती है। हम इसलिए एकजुट होना चाहते हैं, ताकि हमें कोई दबाने की कोशिश न करें। बिहार में पुलिस भर्ती 10 हजार में सवर्ण समाज के मात्र 69 युवाओं को नौकरी मिली। बिहार पुलिस या बिहार में कोई भी सरकारी नौकरी में सिर्फ और सिर्फ एक समाज की बहाली होना दुर्भाग्‍यपूर्ण है। सरकार पूरे राज्‍य की होती है। लेकिन बिहार में अभी की सरकार लोगों को जात – पात में बांट कर सिर्फ सत्ता हासिल करती है। उन्‍होंने कहा कि सवर्ण एकता मंच लोकसभा चुनाव के बाद राजनीतिक पार्टी बनाकर 2020 बिहार विधानसभा में सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

वहीं, स्‍वामी सहजानंद सरस्‍वती और अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए सवर्ण एकता मंच के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष विवेक शर्मा ने सरकार और विपक्ष पर सवर्ण समाज को दबाने का आरोप लगाया और कहा कि सवर्ण समाज हमेशा देश और समाज को साथ लेकर चलने का काम किया है। चाहे आजादी की लड़ाई हो या फिर लालू प्रसाद के जंगलराज के खिलाफ लड़ाई। इसमें हजारों सवर्णों ने कुर्बानी दी है। सवर्ण समाज किसी के साथ अन्‍याय नहीं करता, बल्कि सबको साथ लेकर चलता है। और जब कोई कमजोर समाज के लोगों  पर अन्‍याय करता है, तब सवर्ण समाज ही उसका विरोध कर न्‍याय दिलाने का काम करता रहा है। फिर भी आज सवर्णों की घोर उपेक्षा हो रही है।

उन्‍होंने कहा कि आज सवर्ण समाज के युवा बेरोजगार हैं। सवर्ण समाज एक वक्‍त में रोजगार देने वाला समाज था, लेकिन आज सवर्ण समाज के युवा 5000 से 10000 रूपए की नौकरी के लिए भी दर – दर भटक रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि बिहार में 30 प्रतिशत सवर्ण समाज के लोग हैं। इसको देखते हुए सरकार सवर्ण समाज को कम से कम 25 प्रतिशत आरक्षण दें। वहीं, मंच के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने आगामी लोकसभा चुनाव में मंच द्वारा नालंदा, पाटिलपुत्र और मुजफ्फरपुर सीट से चुनाव लड़ने का भी ऐलान कर दिया।

मौके पर सुनील कुमार सुगम, उमेश शर्मा, छोटे सिंह, विकास कुमार, डॉ पंकज सिंह, विजय सिंह, अनिल सिंह, कृष्‍ण मुरारी सिंह, विष्‍णु शंकर सिंह, अखिलेश चौधरी, प्रशांत कुमार, महेश सिंह, अमन मिश्रा, वीरेंद्र शर्मा समेत दर्जनों वक्‍ताओं ने अपने विचार व्‍यक्‍त किये। शहीदों के यादगार दिवस पर आयोजित सवर्ण चेतना समागम में बिहार के कोने – कोने और अन्‍य प्रदेशों से सवर्ण समाज के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।