मधुबनी – राजद विधायक के विरुद्ध आदर्श आचार संहिता उल्लंघन मामले को ले प्राथमिकी दर्ज, झंडा मेला का फीता काटकर किया था उदघाटन

राजद विधायक के विरुद्ध आदर्श आचार संहिता उल्लंघन मामले को ले प्राथमिकी दर्ज
हरलाखी के दिघीया टोला में फीता काटकर किया झंडा मेला का उदघाटन और पत्रकारों को बुलाकर खिंचवाई फोटो
हरलाखी से मनोज झा की रिपोर्ट
आदर्श आचार संहिता कानून का सरेआम उल्लंघन करना राजद विधायक को पड़ा महंगा। मामले में खजौली विधानसभा के राजद विधायक सीताराम यादव सहित 5 लोगों पर हुई है प्राथमिकी दर्ज। बताते चलें लोकसभा चुनाव को लेकर पूरे देश में आदर्श आचार संहिता लागू है। आचार संहिता कानून को प्रभावी रूप से लागू करने के लिए पदाधिकारियों को चुनाव आयोग के सख्त निर्देश प्राप्त है। इस सबके अलावा चुनाव के तारीखों की घोषणा होते ही आचार संहिता के लागू होने की भी जानकारी दे दी गई। इतना ही नहीं जिला पदाधिकारी ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आदर्श आचार संहिता उल्लंघन करने वालों पर शीघ्र कार्रवाई करने का भी सख्त निर्देश दे दिया। इसके बावजूद दो बार विधायक रह चुके खजौली विधानसभा के आरजेडी विधायक सीताराम यादव ने बुधवार को हरलाखी के दिघीया टोला में अपने कई समर्थकों के साथ फीता काटकर झंडा मेला का उदघाटन कर सरेआम आचार संहिता का उल्लंघन कर दिया। इतना ही नहीं विधायक ने कुछ पत्रकारों को बुलाकर उदघाटन करने की तस्वीरें भी खिंचवाई और वीडियो भी बनवाई। लेकिन हैरत की बात यह है कि इस मामले को लेकर स्थानीय पुलिस प्रशासन एक दिन बाद भी बेख़बर बनी हुई थी। विधायक के इस कार्य से इलाके में कानून की धज्जियां उड़ाये जाने की चर्चा खूब हो रही है। लोगों का कहना है कि विधायक ने जानबूझ कर आचार संहिता का उल्लंघन किया है और अपने विधायकी पावर का इस्तेमाल कर राजनीतिक रसूख का परिचय दिया है।
उद्घाटन के एक दिन बाद सोशल मीडिया पर उद्घाटन की फोटो व वीडियो वायरल होते ही स्थानीय प्रशासन की नींद खुली और वरीय अधिकारिकारियों के निर्देश पर आदर्श आचार संहिता के वरीय अधिकारी सह सीओ शशिभूषण प्रसाद सिंह व नोडल पदाधिकारी सह आवास पर्यवेक्षक चंद्रवीर कुमार ने स्थल का निरीक्षण कर विधायक सीताराम यादव मेला आयोजक रामचंद्र गिरी पंसस नवलकिशोर यादव युगलकिशोर यादव व विकास पासवान के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने को लेकर स्थानीय थाना को लिखित प्रतिवेदन दे दिया है। हालांकि इस मामले को लेकर विधायक ने आचार संहिता उल्लंघन से इनकार किया है। उनका कहना है कि सामाजिक कार्यक्रम में वे शरीक हुए थे कोई सरकारी कार्यक्रम में नहीं। इस बावत थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने बताया कि आदर्श आचार संहिता के वरीय पदाधिकारी के लिखित प्रतिवेदन पर उपरोक्त सभी लोगो के विरुद्ध केस दर्ज करने की प्रक्रिया जारी है। वहीं इस बाबत बेनीपट्टी एसडीएम मुकेश रंजन ने दूरभाष पर बताया कि आदर्श आचार संहिता उल्लंघन मामले में जांच के उपरांत कार्रवाई किया गया है। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति को वख्शा नहीं जायेगा।