अंजना बनी मानवाधिकार आयोग की प्रदेश अध्यक्ष,शिक्षक संघ ने जतायी खुशी

543

ग्लोबल एक्सीलेंस टीचर्स अवार्ड से सम्मानित हो चुकी है शिक्षिका अंजना सिंह

सुपौल/सहरसा:बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ (मूल) के जिला संयोजिका व ग्लोबल एक्सीलेंस टीचर्स अवार्ड से सम्मानित शिक्षिका अंजना सिंह ने एक बार फिर शिक्षक समाज का नाम रोशन किया है।मालूम हो कि अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने शिक्षिका अंजना सिंह के क्रियाकलाप से खुश होकर उसे प्रदेश महिला प्रकोष्ठ का अध्यक्ष नियुक्त किया है।अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सचिव अयानुल हुसैन ने पत्र जारी कर उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी है।जारी पत्र में सचिव ने अंजना सिंह से यह उम्मीद जताई है मानवाधिकार को लेकर वो लोगों को खासकर महिलाओं को जागरूक करेगी।

श्रीमती सिंह को प्रदेश अध्यक्ष का कमान मिलने से प्रदेश के शिक्षकों में खुशी की लहर दौड गई।शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष पूरण कुमार ने उन्हें दूरभाष पर बधाई देते हुए कहा कि एक शिक्षक का मानवाधिकार आयोग का प्रदेश अध्यक्ष बनना शिक्षक समुदाय के लिए गौरव की बात है।इधर संघ के जिलाध्यक्ष मो.जहाँगीर व जिला महासचिव मुनेश्वर सिंह ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि अंजना सिंह को इतनी बडी जिम्मेदारी मिलने से शिक्षक समाज फूले नहीं समा रहे हैं।

जिला उपाध्यक्ष द्वय महेश कुमार कुसियैत व संजीव कुमार यादव ने कहा कि श्रीमती सिंह को मानवाधिकार आयोग के प्रदेश अध्यक्ष बनने से शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने के साथ,निरक्षरता रूपी अभिशाप को समाप्त करने, बालिका शिक्षा को बढावा देने तथा समाजिक कुरीतियों को दूर करने के साथ महिलाओं को सम्मान से जीने का अवसर प्राप्त होंगे।सोशल मीडिया प्रभारी नरेश कुमार निराला ने कहा कि शिक्षिका अंजना सिंह बहुत ही ईमानदारी से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते आ रही है।नशा मुक्ति अभियान हो या स्वच्छता अभियान सभी जगहों पर अंजना सिंह अपनी भागीदारी निभाती है।जिसका प्रतिफल के रूप में उन्हें कई अवार्ड मिलने के साथ मानवाधिकार आयोग के प्रदेश अध्यक्ष जैसे कमान भी मिली।श्री निराला ने इस बडी जिम्मेदारी को ईमानदारी से निर्वहन करने की अपील की।*

अंजना सिंह ने कहा कि शिक्षकों के द्वारा जो विश्वास, प्रेम, प्यार, स्नेह और सम्मान मिल रहा है उसका सदा ऋणी रहूँगी।उन्होंने बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ मूल के प्रति आभार प्रकट किया।उन्होंने कहा कि इस संगठन में जो भी ईमानदारी से काम करता है उसे पहचान जरूर मिलती है।यह वो संगठन है जहाँ वर्षों से शिक्षकों के मान-सम्मान के लिए काम किया जाता रहा है।उन्होंने विश्वास दिलाते हुए कहा कि पूरी ईमानदारी व निष्ठा से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करूंगी।महिलाओं को जागरूक करना पहली प्राथमिकता होगी।

खुशी व्यक्त करने वालों में जिला कोषाध्यक्ष निरंजन कुमार, संयुक्त सचिव नरेश कुमार मंडल, जिला प्रतिनिधि ब्रजनारायण कुमार, बिजेंद्र राम, संतोष कुमार मंडल, पियूष कुमार पिंकू, विजय कुमार भारती, अरूण कुमार मेहता, अशोक राम, चंदन कुमार चंदन, पविकला कुमारी, महेश्वर कामत, उमेश कुमार, संजय कुमार, अरूणनंदन ऋषिदेव, अरविन्द यादव, मो इल्यास, अजय कुमार, मकेश पासवान,बलराम सिंह, उमेश राम,अशोक ठाकुर, प्रवीण कुमार, रघुनंदन रजक, कपिलदेव मेहता, आमोद कुमार यादव, बबीता कुमारी, सोनी कुमारी, रूबी कुमारी, श्याम कुमार मेहता, अरबाज आलम आदि थे।