समाज की बेहतरी में महिलाओं की भूमिका अहम : प्रीति झिंगानिया

152

महिलाएं किसी भी मामले में पीछे नहीं है

पटना : मोहब्‍बतें, चांद के पार चलो जैसी फिल्‍मों से अपनी अदाकारी का लोहा मनवा चुकीं अभिनेत्री प्रीति झिंगानिया ने कहा कि समाज की बेहतरी में महिलाओं की भूमिका अहम होती है। महिलाओं को जब भी कोई मंच या फेम मिलता है, तब वे उसका इस्‍तेमाल समाज को संवारने में करती हैं। दरअसल, प्रीति झिंगानिया मिसेज बिझार 2019 (बिहार-झारखंड) के ग्रैंड फिनाले में शामिल होने पटना आई थीं। यहां होटल लेमन ट्री में आयोजित एक संवाददाता सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि हमें आज सोसाइटी को शिक्षा देनी चाहिए कि महिलाएं किसी भी मामले में पीछे नहीं है। वे फाइट कर सकती हैं।

प्रीति झिंगानिया ने कहा कि अब हमारे देश में विवाहित महिलाओं की जगह सिर्फ किचन और घर में नहीं है। इस पीजेंट से वे अपना नाम और फेम कितनी सारी चीजों के लिए यूज कर सकती हैं। उन्‍होंने कहा कि हमें अपने बच्‍चों को भी सिखाना चाहिए कि अविवाहित महिला हो या विवाहित महिला में कोई अंतर नहीं है। शादी के बाद भी ऐसा नहीं होना चाहिए कि महिलाओं का करियर बंद हो या उनके काम करने की क्षमता कम हो। वे जरूर अपने बच्‍चों और काम को प्राथमिकता दे सकती हैं। एसिड अटैक के थीम पर आधारित मिसेज बिझार 2019 (बिहार-झारखंड) के बारे में प्रीति झिंगानिया ने कहा कि एसिड अटैक विक्टिम का मुद्दा आज देश में गंभीर हैं। हमारे देश में इसके खिलाफ कई लॉ बने हैं, फिर भी एसिड अटैक की घटनाएं होती हैं। हम उनके साथ हैं। हमें समाज को इस बारे में अवेयर भी करना चाहिए। उन्‍होंने बाद में मिसेज बिझार 2019 (बिहार-झारखंड) के कंटेस्‍टे को बधाई व शुभकामनाएं भी दी।  प्रीति ने कहा कि बिहार वे पहले भी आईं हैं, लेकिन इस बार बिहार आकर अच्छा लगा। उन्‍होंने विंग कमांडर अभिनंदन के वतन वापसी पर भी खुशी जाहिर की और कहा कि वे पीमए मोदी के साथ हैं, लेकिन वार का समर्थन नहीं करती हैं। साथ ही अगर कोई हमला करे तो उस पर चुप्‍पी साधना भी उन्‍हें गंवारा नहीं है।

संवाददाता सम्‍मेलन को मिसेज बिझार 2019 (बिहार-झारखंड) के फाउंडर डायरेक्‍टर प्रशांत पंकज और अर्चना ने भी संबोधित किया और बताया कि इस ब्‍यूटी पीजेंट के जरिये हम एसिड अटैक विक्टिम के लिए फंड भी जमा कर रहे हैं। इसमें  आगरा और दिल्‍ली से आयी एसिड अटैक विक्टिम का रैंप वाक भी होगा। यह हमारे लिए बहुत आसान नहीं था, लेकिन हमने समाज की मुख्‍यधारा से उनको जोड़ने के लिए उन्‍हें भी  मिसेज बिझार 2019 (बिहार-झारखंड)  से जोड़ा है। इसके अलावा हम चैरिटी कर एसिड विक्टिम्‍स की मदद के लिए फंड रेज करते हैं और वो सरकार को दे देते हैं।