योजना में अनियमितता के कारण शौचालय से वंचित है जरूरतमंद लोग: राघवेन्द्र

हरलाखी से मनोज कुमार झा की रिपोर्ट

                      एक तरफ स्वच्छ भारत निर्माण को लेकर केंद्र व राज्य सरकार के द्वारा विभिन्न योजनाओं को लागु किया गया है। आम लोगों के घर शौचालय निर्माण कराने के लिए सरकार के द्वारा 12 हजार रुपए की सहयोग राशि देने की बात कही जा रही है। परंतु प्रखंड क्षेत्र के शौचालय योजना में चल रही अनियमितता के कारण आम जरूरतमंद लोग शौचालय से वंचित हैं। यह बातें मिथिला स्टूडेंट यूनियन के राष्ट्रीय प्रधान सचिव राघवेन्द्र रमन ने उमगांव के एमएसयु कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान कही। उन्होंने प्रखंड कर्मी व स्थानीय जनप्रतिनिधि के द्वारा शौचालय निर्माण में अवैध रूप से 2 हजार रुपए वसूले जाने के कारण आम जरूरतमंद लोगों को योजना के लाभ से वंचित होने की बात कही। श्री रमन ने हरलाखी प्रखंड में अब तक एक भी पंचायत का ओडीएफ नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए योजना के प्रति पदाधिकारियों के उदासीनता को दर्शाने की बात भी कही।
          श्री रमन ने बताया कि स्थानीय पदाधिकारी के अलावे अनुमंडल व जिला पदाधिकारी को लिखित आवेदन देकर प्रखंड क्षेत्र के सभी पंचायतो में कर्मी व जनप्रतिनिधि के मिली भगत से शौचालय योजना में चल रहे अवैध वसूली की जांचकर दोषी व्यक्ति पर कार्रवाई करने की मांग की गई है। इस बावत प्रभारी बीडीओ सह सीओ शशिभूषण प्रसाद सिंह ने बताया कि शौचालय योजना में अनियमितता की शिकायत मिली है। शीघ्र मामले में जांचकर कार्रवाई की जायेगी।