पीओ के पद पर कार्यरत संजीत बने एसडीएम

82

संजीत का एसडीएम के पद पर चयन होने पर खुशी जाहिर

सहरसा : प्रतिभा किसी का मोहताज नहीं होता। इसको सच कर दिखाया गम्हरिया के लाल संजीत कुमार ने। मधेपुरा जिले के चंदनपट्टी गांव निवासी शंभु भगत के पुत्र संजीत कुमार ने बीपीएससी 60वीं – 62वीं बैच में बिहार प्रशासनिक सेवा में एसडीएम के पद पर चयनित होकर समाज एवं जिला का नाम रौशन किया है। मालूम हो कि संजीत कुमार पिछले 56वीं – 59वीं वीपीएससी परीक्षा में चयनित होकर बिहार शिक्षा सेवा कैडर के तहत सहरसा जिला में प्रारंभिक शिक्षा एवं सर्व शिक्षा अभियान के कार्यक्रम पदाधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। बातचीत के क्रम में संजीत कुमार ने बताया कि सबसे पहले रेलवे में गुड्स गार्ड एवं स्टेशन मास्टर के पदों पर अपनी सेवा दे चुके हैं। बाद में वर्ष 2014 से 18 तक बिहार सचिवालय सेवा में सचिवालय सहायक के पद पर कार्य कर चुके हैं। श्री कुमार ने एसडीएम पद मिलने का सारा श्रेय अपने माता-पिता के मेहनत को देते हैं। इनका पढ़ाई-लिखाई पटना में रहकर हुई है। उन्होने बताया कि उनका अगला लक्ष्य आईएएस बनने का है। इनके चयन पर सहरसा जिले के शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारी से लेकर कर्मचारी में खुशी व्याप्त है। इनके चयन पर जिला शिक्षा पदाधिकारी डाक्टर तकीउद्दीन अहमद, स्थापना डीपीओ राहुल चन्द्र चौधरी, एसएसए डीपीओ मनोज कुमार, योजना एवं लेखा विभाग के पीओ अमित कुमार, एडीपीसी कुंदन कुमार, सर्व शिक्षा अभियान कार्यालय से जुड़े कर्मी मुमताज आलम, रितेश कुमार सिंह, नंदलाल पासवान, सत्य प्रकाश, सरवर आदि ने खुशी जाहिर किया है।