BPSC में कुमारी पल्लवी ने पहली बार में सफल

273

बिहार लोक सेवा आयोग में परचम लहराते हुए 296वीं रैंक हासिल

सहरसा : वार्ड नंबर 23  निवासी नृपेश चंद्र झा की पुत्री कुमारी पल्लवी ने अपने प्रथम प्रयास में ही बिहार लोक सेवा आयोग में परचम लहराते हुए 296वीं रैंक हासिल की है। कुमारी पल्लवी को आबकारी अधीक्षक का पद प्राप्त हुआ है। अपनी प्रारंभिक परीक्षा सहरसा के बुद्धा पब्लिक स्कूल से करने के पश्चात बोकारो के गुरु गोविंद सिंह पब्लिक स्कूल से उन्होंने 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की जिसके पश्चात उच्च शिक्षा के लिए वो दिल्ली की ओर अग्रसर हुईं। दिल्ली विश्विद्यालय के प्रख्यात गार्गी कॉलेज से जूलॉजी विषय मे उन्होंने स्नातक किया। सिविल सेवा परीक्षा की ओर रुचि जागृत होने के वजह से उन्होंने राजनीति विज्ञान में एमए भी किया। बिहार लोक सेवा आयोग में पल्लवी का विषय मैथिली भाषा एवं साहित्य था। मिथिलांचल से होने और मैथिल परिवेश में लालन पालन होने के दृष्टि से वह मैथिली साहित्य में काफी सहज थी। दिल्ली से प्रकाशित होने वाले मैथिली शोध पत्रिका तीरभुक्ति के लिए पल्लवी ने लेखन कार्य भी किया है। शुरू से ही पढ़ाई में अव्वल रहने वाली पल्लवी ने दसवीं में 90 प्रतिशत अंक लाकर सबको गौरवान्वित किया था। बिहार लोक सेवा आयोग में सफलता के बाद अब वो संघ लोक सेवा आयोग के तरफ पूर्ण मनोयोग से उन्मुख होना चाहती है। वह अपने सफलता का श्रेय सर्वप्रथम ईश्वर को और उसके बाद अपने माता पिता को देती है जिन्होंने उसपे विश्वास कायम कर उच्च शिक्षा के लिए दिल्ली भेजकर समाज को एक संदेश देने का कार्य किया। दिल्ली में अपने सीनियर और जूनियर दोस्तों के प्रति भी कृतज्ञता पेश करती है जिन्होंने उसे इस यात्रा में कदम कदम पर सहयोग एवं दिशा निर्देश देने का कार्य किया।