आज वो जॉर्ज फर्नाडीस हमारे बीच नहीं रहे,उन्‍हें भावभीनी श्रद्धांजलि।

151

समाजबादी नेता जॉर्ज फ़र्नांडिस केे निधन से आहत पूर्व विधायक भाजपा नेता किशोर कुमार मुन्ना ने श्रद्धांजलि दिया ।

सहरसा: पूर्व विधायक सह भाजपा नेता किशोर मुन्ना लिखते है कि…. जिसकी एक पुकार पर लाखों कर्मचारी हड़ताल पर चले जाते थे। सरकारों की चूलें हिला देता था l तानासाही और आपातकाल के विरुद्ध सम्पूर्ण देश को जिन्होंने झगझोड़ा l राष्ट्रवाद और समाज वाद के लिए अपना सम्पूर्ण जीवन समर्पित करने वाले जन नेता जिनकी सेवा को हमेशा देश सेल्यूट करता रहेगा ।
समाजवादी आंदोलन के महानायक किसानो, मजदूरो और ट्रेड यूनियन के मसीहा जॉर्ज फ़र्नांडिस देश के अंतिम व्यक्तियों की लड़ाई के लिए और उस चुनौतियों को अपने कंधे पर लेने के लिए जॉर्ज हमेशा याद किए जाएंगे।ये जॉर्ज ही थे जिन्होंने मंत्री पद का मोह नहीं किया और आरोप लगने के बाद इस्तीफा दिया और बेदाग हुए तो फिर मंत्री बने जॉर्ज जब रक्षा मंत्री थे तभी देश में परमाणु परीक्षण हुआ था. कारगिल के योद्धावों और सेनाओ के लिए जॉर्ज का रक्षा मंत्री के रूप मे किया गया फैसला आज़ादी के बाद देश मे एक इतिहास की तरह है। पहाड़ी और दुर्गम इलाकों में जब सैनिक पहले शहीद होते थे तो उनके शव वही दफना दिये जाते थे. लेकिन जॉर्ज ने रक्षा मंत्री रहते हुए ये व्यवस्था बदल दी और शहीदों के शव को उनके घर भेजा जाने लगा. जॉर्ज ही पहले रक्षा मंत्री थे जो सियाचिन गये। जॉर्ज समाजवाद के जनक और देश के उन लोगो के लिए प्रेरणा स्रोत है जो देश मे चल रहे अवसरवादी राजनीति को दर किनार कर अपना रास्ता तलास रहे हैं।जॉर्ज फ़र्नांडिस जैसे व्यक्ति संसद से लेकर सड़क तक और खेत-खिलिहानों से लेकर मज़दूरों के बीच वे एक जैसे थे। उन्होने कहा की अंतिम व्यक्ति की लड़ाई पूंजी से नही हो सकती श्रम से ही लड़ी जा सकती है। उनके साथ काम करने मौका हमे बेहद करीब से मिला , जब हमने उनसे बहुत कुछ सीखा । बिहार पीपुल्स पार्टी से हमने 1995 में सोनवर्षा विधानसभा से चुनाव लड़ा था, चुनाव परिणाम बाद समता पार्टी, समर्थक गाँव मधेपुरा, सरौनी, नवटोलिया, बज्रराहा को तत्कालीन शासक के समर्थकों ने जला कर राख कर दिया । इस घटना को लेकर मैने बड़ा आन्दोलन किया था । पूर्व सांसद आनंद मोहन जी के साथ मैं इस घटना को लेकर समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जॉर्ज साहब से मिला और उस घटना के विरुद्ध सहरसा में आयोजित प्रतिरोध सभा मे आने का आग्रह किया, और वे स्वीकार कर लिए । इसी बीच बिहार पीपुल्स पार्टी का समता पार्टी में विलय हो गया । जॉर्ज फर्नाडीस, नीतीश कुमार जी, आंनद मोहन जी का इस घटना के विरुद्घ विशाल जनसभा हुआ ।

आज वो जॉर्ज फर्नाडीस हमारे बीच नहीं रहे। उन्‍हें भावभीनी श्रद्धांजलि।