मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 19 जनवरी को आयेगें सहरसा

1163

सिहौल में बनने वाले पावरग्रिड का करेगें शिलान्यास

300 करोड़ की लागत से बनेगा पावरग्रिड

स्वीटजरलैंड की A.A.B कंपनी करेगी पावरग्रिड का निर्माण

देर संध्या डीएम शैलजा शर्मा , एसपी राकेश कुमार , एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी आदि ने किया स्थल का निरीक्षण

पावरग्रिड के सभी विभागीय अधिकारियों भी रहे स्थल पर मौजूद

सहरसा: 19 जनवरी को सत्तर कटैया प्रखंड के ओकाही-सिहौल में पावरग्रिड मिथिलांचल ट्रांसमिशन लिमिटेड निर्माण कार्य का मुख्यमंत्री द्वारा शिलान्यास किये जाने को लेकर बुधवार शाम को डीएम शैलजा शर्मा व एसपी राकेश कुमार ने निर्माण स्थल का जायजा लिया।

सिहौल पहुंचे डीएम एवं एसपी ने ग्रिड निर्माण स्थल का मुआयना करते हुए मुख्यमंत्री के शिलान्यास कार्यक्रम को लेकर अधिकारी समेत विद्युत विभाग के अधिकारियों से बातचती कर कई निर्देश दिए। डीएम ने तीन एकड़ जमीन को लेकर अविलंब कार्रवाई करने का निर्देश दिया। हालांकि निर्माण स्थल मे पड़ने वाली सिहौल, ओकाही, मुरली, तुलसियाही के रैयतों से संपर्क कर अधिकृत जमीन की दस्तावेजों का जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश सीओ को दिया गया। इस मौके पर पावर ग्रिड उप प्रबंधक संजीव कुमार,एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, अंचलाधिकारी शशि कुमार, विद्युत विभाग के कनीय अभियंता गणेश सिंह, सीआई शशिभूषण सिंह, राजस्व कर्मचारी भुवनेश्वर मंडल आदि मौजूद थे।

तीन सौ करोड़ की लागत से पावरग्रिड का होगा निर्माण
35 एकड़ में बनने वाली इस पावरग्रिड का निर्माण कार्य का जिम्मा स्विटजरलैंड की एबीबी कम्पनी को सौंपा गया है। ओकाही-सिहौल पावरग्रिड मिथिलांचल ट्रांसमिशन लिमिटेड कोसी प्रमंडल का पहला विद्युत उपकेन्द्र होगा जहां से कोसी एवं मुंगेर प्रमंडल के सहरसा, मधेपुरा, सुपौल, खगड़िया एवं बेगुसराय जिले समेत अन्य परिक्षेत्रों मे विद्युत की आपूर्ति की जाएगी।