मधुबनी – जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में भारत-नेपाल अंतराष्ट्रीय सीमा सर्वेक्षण से संबंधित बैठक

जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में भारत-नेपाल अंतराष्ट्रीय सीमा सर्वेक्षण से संबंधित बैठक का आयोजन
—- सभाकक्ष,नगर पंचायत जयनगर में बैठक का किया गया आयोजन
मधुबनी: दिनांक 27.12.2018 को सभाकक्ष,नगर पंचायत जयनगर(जिला-मधुबनी) में भारत-नेपाल अंतराष्ट्रीय सीमा सर्वेक्षण के संबंध में वर्ष 2018-19 की पहली बैठक श्री शीर्षत कपिल अशोक, जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में आहूत की गयी।
जिसमें पड़ोसी देश नेपाल के श्री प्रदीप राज कनेल,मुख्य जिल्ला पदाधिकारी,धनुषा,श्री रूद्र प्रसाद पंडित, सिरहा श्री शम्भू प्रसाद यादव, महोत्तरी, श्री रमेश ग्यावली, श्री जीवन श्रेष्ठ, श्री इश्वर कार्की, श्री अशोक कुमार झा, श्री दिलीप सिंह, श्री राजू पांडे के अतिरिक्त संबंधित जिला के अन्य पदाधिकारी एवं सर्वे पदाधिकारी भाग लिए। मधुबनी जिला की ओर से श्री दीपक वरनवाल, पुलिस अधीक्षक, मधुबनी, श्री दुर्गानंद झा,अपर समाहर्ता मधुबनी श्री शंकर शरण ओमी, अनुमंडल पदाधिकारी,जयनगर, श्री मुकेश रंजन, अनुमंडल पदाधिकारी, बेनीपट्टी,  श्री गणेष कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी, फुलपरास, श्री सुमित कुमार,अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, जयनगर,एस0एस0बी0 राजनगर/ जयनगर के समादेष्टा समेत अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।
भारतीय सर्वेक्षण विभाग के पदाधिकारी श्री मंजुल ममगाईन के द्वारा भारत-नेपाल सीमा पर सीमा स्तंभों (बाॅर्डर पीलरों) के निर्माण/मरम्मति एवं अन्यान्य कार्यो के संबंध में विस्तृत रूप से पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से उपस्थित सदस्यों को अवगत कराया गया।
मुख्य जिला पदाधिकारी, धनुषा, श्री प्रदीप राज कनेल के द्वारा बैठक में उपस्थित सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए बताया गया कि देहरादून (भारत) में नौंवे सर्वे ऑफिसियल कमिटि की बैठक में लिये गये निर्णय के आलोक में यह बैठक आहूत की गयी है एवं भारत-नेपाल अंतराष्ट्रीय सीमा पर सीमा स्तंभों के गायब होने, निर्माण होने एवं मरम्मति आदि के बिंदु के अतिरिक्त नो-मेंस लैंड पर हो रहे अतिक्रमण पर चिंता व्यक्त करते हुए इसके उपाय किये जाने पर जोर दिया।
बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि भारत-नेपाल अंतराष्ट्रीय संयुक्त फिल्ड सर्वे टीम की बैठक मई 2019 में जनकपुर (जिल्ला-धनुषा) नेपाल में आयोजित की जायेगी। बैठक को संबोधित करते हुए जिला पदाधिकारी,मधुबनी, श्री शीर्षत कपिल अशोक के द्वारा सभी उपस्थित सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत-नेपाल अंतराष्ट्रीय सीमा से आये दिन हो रही अधिकाधिक मात्रा में शराब तस्करी चिंता का विषय है। इस पर कठोरता पूर्वक कार्रवाई करने की आवश्यकता है। उन्होंने मुख्य जिल्ला पदाधिकारी, धनुषा से नेपाल से हो रही शराब की तस्करी पर रोक लगाने हेतु उचित कदम उठाने हेतु अनुरोध किया गया। साथ ही नो-मेंस लैंड पर हो रहे अतिक्रमण के मामलों पर संयुक्त रूप से कार्रवाई करने हेतु विचार-विमर्श भी किया गया।
श्री दीपक वरनवाल, पुलिस अधीक्षक, मधुबनी के नेपाल से सटे भारतीय सीमावत्र्ती क्षेत्रों में हो रहे आपराधिक घटना यथा-तस्करी, लूट, हत्या, डकैती की रोकथाम हेतु विचार-विमर्श किया गया। साथ ही भारतीय सीमा क्षेत्र के वैसे अपराधी जो भारतीय सीमा क्षेत्र में अपराध कर नेपाल में छुपते है। उनपर कार्रवाई में सभी नेपाली पुलिस पदाधिकारियों से सहयोग हेतु अनुरोध किया गया।