Cyber Crime के आरोप में झारखंड से एक गिरफ्तार

523

पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, साइबर क्राईम के मामले में झारखंड से अभियुक्त को लिया गया गिरफ्त में, पीड़ित को लगाए थे 42 हजार रुपए का चूना …

फ्लिप कार्ड द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग कर निकाले गए थे बैंक खाते से रुपए, साईबर क्राईम मामले में सहरसा पुलिस के खाते में पहली सफलता …

सहरसा :सदर थाना पुलिस को साईबर क्राईम मामले पहली बार एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। जिसमें पिछले दिनों सहरसा निवासी प्रमोद कुमार मिश्र के बैंक खाते से दो बार में कुल 42 हजार 619 रूपए की फ्लिप कार्ड से ऑनलाइन शॉपिंग के द्वारा रुपए उड़ाए गए थे।

इस मामले के पीड़ित प्रमोद कुमार मिश्र ने उक्त मामले को लेकर सदर थाना में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई थी। उनके आवेदन पर सदर थाना में कांड दर्ज कर अनुसंधान किया जा रहा था। इसी अनुसन्धान के क्रम में झारखंड राज्य के जामताड़ा से मो.आरिफ उर्फ मोहित की गिरफ्तारी की गई है। जिसने मोहित कुमार के नाम से फेक आईडी बना कर फ्लिपकार्ड के द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग कर उक्त राशि की निकासी की थी।

घटना की जानकारी देते हुए सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी ने बताया कि पिछले दिनों सदर थाना कांड संख्या 1152/18 में पीड़ित प्रमोद कुमार मिश्र के बैंक खाते से फ्लिप कार्ड द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग कर पहली बार 26,119 रूपए और दूसरी बार 16,500 रूपए की खरीदारी की थी। जिससे उनके बैंक से कुल 42,619 रूपए की निकासी अवैध रूप से कर ली गई थी। उनके आवेदन पर सदर थाना मेंं कांड को दर्ज कर अनुसंधान किया जा रहा था। सदर थाना के एएसआई अरविंद कुमार मिश्रा ने अनुसंधान के क्रम में पाया कि उक्त आरोपी झारखंड राज्य के जामताड़ा निवासी मो.आरिफ उर्फ मोहित है। मो.आरिफ मोहित नाम का फेक आईडी बनाकर फ्लिप कार्ड द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग से पैसे की निकासी कर लिया था। जिसके बाद अनुसंधानकर्ता अरविंद कुमार मिश्रा की टीम ने झारखंड के जामताड़ा में छापामारी कर मो. आरिफ को गिरफ्तार कर लिया है।बताते चलें कि आरिफ के साथ एक और अभियुक्त की गिरफ्तारी हुई थी। वह अपराधी भी ऑनलाइन शॉपिंग के द्वारा ही लोगों के बैंक में रखी राशि का इसी तरह से खरीददारी कर के चूना लगाते रहे थे। हांलांकि उस अपराधी को जामताड़ा पुलिस ने वहां के मामले में, वहीं हिरासत में ले लिया। इधर गिरफ्तार आरोपी मो.आसिफ से सदर थाना की पुलिस कड़ाई से पूछताछ कर रही है।साथ ही इस अपराधी के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

यहाँ यह जानकारी देना बेहद लाजिमी और जरूरी है कि साईबर क्राईम मामले में सहरसा पुलिस ने मो.आरिफ के रूप में खाता खोला है, यानि यह पहली गिरफ्तारी है।