सांसद पप्‍पू यादव ने रेलमंत्री पीयूष गोयल से की मुलाकात

715

कोसी में रेल परियोजनाओं की धीमी गति पर जतायी चिंता

अगरतल्‍ला-नई दिल्‍ली राजधानी एक्‍सप्रेस का ठहराव खगडि़या में करने की मांग

अलीगढ़ में भी हो चंपारण हमसफर एक्‍सप्रेस का ठहराव

पटना: जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने रेलभवन में रेलमंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की और कोसी की रेल परियोजनाओं को लेकर विमर्श किया। सांसद ने रेल परियोजनाओं की धीमी प्रगति पर चिंता भी जाहिर की। मुलाकात के दौरान श्री यादव ने अपनी मांगों का ज्ञापन भी रेलमंत्री को सौंपा।

रेलमंत्री से मुलाकात के बाद श्री यादव ने पत्रकारों को बताया कि वे बिहार व कोसी से जुड़ी विकास परियोजनाओं को लेकर लगातार प्रयासरत रहे हैं। इसी का परिणाम है कि कोसी को कई रेल और सड़क परियोजनाओं का तोहफा मिला है। मधेपुरा रेल कारखाना से इंजन बनने का काम शुरू हो सका है। उन्‍होंने कहा कि कोसी से जुड़ी कई परियोजनाओं को लेकर चर्चा की। इस दौरान अगरतल्‍ला से नई दिल्‍ली के बीच चलने वाली राजधानी एक्‍सप्रेस का ठहराव खगडि़या में करने की मांग की। पूर्व मध्‍य रेलवे के समस्‍तीपुर मंडल के सहरसा, मधेपुरा, मुरलीगंज,पूर्णिया कोर्ट, जानकीनगर और सुपौल रेलवे स्‍टेशनों को मॉडल स्‍टेशन बनाने के साथ यात्रियों के लिए अंतराष्‍ट्रीय स्‍तर की सुविधाएं उपलब्‍ध करवाने की मांग की।

सांसद ने कहा कि कोपरिया स्‍टेशन पर सहरसा-जयनगर एक्‍सप्रेस,सहरसा-अमृतसर एक्‍सप्रेस,सहरसा-आनंद विहार एक्‍सप्रेस और दानापुर-सहरसा एक्‍सप्रेस के ठहराव की मांग की, ताकि इस इलाके के लोगों को देश के अन्‍य हिस्‍सों से आवगमन आसान हो सके। श्री यादव ने कहा कि कोसी और सीमांचल की बहुत बड़ी आबादी अलीगढ़ में रोजगार के लिए जाती है, लेकिन चंपारण हमसफर एक्‍सप्रेस का ठहराव अलीगढ़ में नहीं है। इससे लोगों को परेशानी होती है।

कोसी  के लोगों की सहूलियत के लिए चंपारण हमसफर एक्‍सप्रेस का ठहराव अलीगढ़ में करने की मांग की। उन्‍होंने कोसी में रेलखंडों के अमान परिवर्तन और नई रेल लाइनों की धीमी गति पर चिंता जाहिर करते हुए इसमें तेजी लाने की मांग भी की।

सांसद ने कहा कि जन अधिकार पार्टी ही बिहार में असली प्रतिपक्ष की भूमिका का निर्वाह कर रही है। बिहार को विशेष राज्‍य का दर्जा दिलाने के लिए हस्‍ताक्षर अभियान चलवा रही है। उन्‍होंने कहा कि पार्टी जनता के मुद्दों पर संघर्ष करती रहेगी।