विवाहिता के साथ प्रेमी ने थाना में शादी रचाई

Kunal Kishor
kunal@koshixpress.com
2048

थाना अध्यक्ष और ग्रामीणों की पहल पर परिणय सूत्र में बंधे

सहरसा :कहते हैं प्रेम अंधा होता है।अंधे प्रेमजाल में फंसे प्रेमी और प्रेमिका के लिए न तो कोई जाति — धर्म का बंधन कोई मायने रखता है और न ही किसी उम्र सीमा की ही ।अंधे प्रेम में पागल प्रेमी तो विवाहित महिला के साथ भी प्रेम करने से परहेज नहीं करते ।हालांकि ऐसे अंधप्रेम में फंसे प्रेमी और प्रेमिका को बाद में खामियाजा भी भुगतना पड़ता है ।

सहरसा के सत्तरकटैया प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत बिजलपुर गांव निवासी डोमी यादव के पुत्र सुनील यादव भी अंध प्रेम में फंसकर पुरानी कहावत को चरितार्थ किया है ।एक विवाहित महिला के प्रेमजाल में फंसे प्रेमी सुनील यादव को प्रेमिका के साथ गुफ्तगू करने के दौरान ग्रामीणों ने दबोच कर बिहरा थाना पुलिस के हवाले कर दिया ।बाद में ग्रामीणों और थानाध्यक्ष की पहल पर थाना परिसर स्थित मंदिर में ही दोनों की शादी रचाकर दोनों को परिणय सुत्र में बांध दिया गया ।

जानकारी के अनुसार बिजलपुर गांव में रहने वाले प्रेमी सुनील यादव को ग्रामीणों ने पूर्व में भी प्रेमिका के घर में देर रात गुफ्तगू करते पकड़ लिया था ।इस मामले को लेकर कई बार पंचायत भी बैठी ।लेकिन उस समय प्रेमी सुनील यादव उससे शादी करने से तो इंकार कर दिया ।लेकिन चोरी छिपे वह अपनी उस प्रेमिका के घर आना जाना करता रहा ।

लेकिन सोमवार की सुबह ग्रामीणों ने प्रेमी सुनील को प्रेमिका के घर में पकड़ कर बिहरा थाना पुलिस के हवाले कर आगे की कार्रवाई के लिए अनुरोध करना शुरू कर दिया ।ग्रामीणों से सुचना मिलते ही बिहरा थाना पुलिस गांव पहुंची और दोनों को कब्जे में लेकर थाना चली गयी।पुलिस गिरफ्त भें आये प्रेमी सुनील ने प्रेमिका से शादी करने के लिए अपनी हांमी भर दी ।

इस संबंध में बिहरा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार ने बताया की बिजलपूर के ग्रामीणों ने सूचित करते बताया की सुनील जिस लड़की से प्रेम करता है उस लड़की की शादी पहले हो चुकी है ।

ग्रामीणों ने जानकारी देते बताया की मधेपुरा जिले के घैलाढ़ प्रखंड अंतर्गत भतरंधा गांव में रहने वाली लड़की की शादी पूर्व में मुकेश कुमार नामक युवक के साथ हुयी थी ।यह भी कहा गया की लड़की की शादी तो मुकेश के साथ कर दी गयी लेकिन उसका प्रेम संबंध तो सुनील यादव के साथ पूर्व से ही कायम था ।

मुकेश के साथ शादी रचाने के बाद विवाहिता इस बीच ससुराल से अपने मायके चली आयी और पूर्व की भांति सुशील यादव से मिलने लगी ।दोनों प्रेमी — प्रेमिका को जब थाना लाया गया तो दोनों शादी करने के लिए तैयार हो गये ।बाद में ग्रामीणों और थाना अध्यक्ष सुमन कुमार की पहल पर थाना परिसर स्थित मंदिर में ही दोनों की शादी कराकर उसे परिणय सूत्र में बांध दिया गया। @रपट राजा कुमार की