ENWTTC बीएड  छात्र अध्यापकों का अभ्यास शिक्षण समाप्त  

Kunal Kishor
kunal@koshixpress.com
464

बेहतर शिक्षण के लिये प्रशिक्षण का होना है जरूरी 

सहरसा : शुक्रवार को स्थानीय पूरब बाजार स्थित मनोहर उच्च विद्यालय में ईस्ट एन वेस्ट टीचर ट्रेनिंग काॅलेज के बीएड सत्र 2016-18 द्वितीय वर्ष के छात्र अध्यापकों का एक सौ बारह दिनों का अभ्यास शिक्षण कार्य का समापन समारोह आयोजित किया गया। समारोह का उद्घाटन मुख्य ईस्ट एन वेस्ट टीचर ट्रेनिंग काॅलेज के चेयरमैन डाॅ रजनीश रंजन, मनोहर हाई स्कूल के प्रभारी प्राचार्या रेणु झा ,अभ्यास शिक्षण समन्वयक  रंजय कुमार राजा, अभ्यास पर्यवेक्षक अमित कुमार  सहित गणमान्य अतिथियों के हाथों दीप प्रज्वलित कर किया गया। बीएड छात्र अध्यापकों के अभ्यास प्रशिक्षण समापन समारोह को संबोधित करते हुए ईस्ट एन वेस्ट टीचर ट्रेनिंग काॅलेज बीएड सत्र 2016 -18 के छात्र अध्यापकों कि एक सौ बारह दिनों से चली आ रही अभ्यास शिक्षण कार्यक्रम जिला शिक्षा पदाधिकारी के निर्देश पर शुक्रवार को समपन किया गया। कहा कि इस अभ्यास शिक्षण के दौरान पर्यवेक्षक अमित कुमार एवं सभी छात्र अध्यापक नियमित एवं अनुशासित रूप से बेहतर ढंग से शिक्षण कार्य को संपादित किया गया। उन्होंने प्रशिक्षु छात्र अध्यापक के बेहतर जीवन के लिये सभी को शुभकामनाएं दी।इस मौके पर मनोहर हाई स्कूल के वरिय शिक्षक मो नेहाल अहमद ने सभी प्रशिक्षुओं को एक आदर्श शिक्षक बनने हेतु शुभकामनाएं दिया। उन्होंने कहा कि वैसे तो जिले के सभी महाविद्यालयों के छात्र अध्यापन प्रशिक्षण हेतु आते है।लेकिन ईस्ट एन वेस्ट टीचर ट्रेनिंग काॅलेज के प्रशिक्षुओं में जो समांतर एवं कर्तव्यनिष्ठ अध्यापन कार्य को लेकर देखने को मिलता है वह बांकी महाविद्यालय के प्रशिक्षुओं में नहीं दिखाई देता है। तभी तो ईस्ट एन वेस्ट जिले का शिक्षण-प्रशिक्षण में सर्वश्रेष्ट काॅलेज में जाना जाता है।इस मौके पर समारोह के मुख्य उद्घाटन कर्ता ईस्ट एन वेस्ट टीचर ट्रेनिंग के चेयरमैन डाॅ रजनीश रंजन ने कहा की नये परिंदों को उड़ने में वक्त तो लगता है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि एक जुलाई 2016 से अध्यापन एवं प्रशिक्षण प्राप्त कर पंख वाले परिंदे के रूप में आज से अभ्यास शिक्षण पुरा करने वाले छात्र अपना अपना उड़ान भरने को तैयार हैं। चेयरमैन ने सभी प्रशिक्षुओं से जाति धर्म से उपर उठकर समाज में नई कीर्तिमान स्थापित करने हेतु एक अच्छे व गुणवान शिक्षक सभी को सपथ दिलवाया गया। उन्होंने कहा कि शिक्षक व पुस्तक एक ही सिके के दो पहलू हैं। इस लिए जबतक शिक्षक का साथ पुस्तक से नहीं होगा तबतक एक आदर्श शिक्षक राष्ट्र निर्माण में अपनी सहभागिता नहीं निभा सकता है। उन्होंने कहा कि एक आदर्श शिक्षक बनने के लिये हर शिक्षक में अध्यापन कार्य के लिये प्रशिक्षण का होना बहुत जरूरी है। इस मौके पर अभ्यास शिक्षण के प्रशिक्षुओं की और से स्कूल को उपहार स्वरूप एक बुक सेल अलमीरा स समान भेट किया गया। इस मौके पर महाविद्यालय के एचओडी ओमप्रकाश चौरसिया, अध्यापक निलेश राय, अमित कुमार रंजय,राजा ,रीमा कुमारी सिंह ,अंशु कुमार, विनोद विनायक ,संतोष कुमार, अभय कुमार ,अमित चंचल प्रशिक्षु छात्र अध्यापक मनीष रंजन, ममता ,अंशु ,विक्रांत सिंंह,पंकज ,पारस ,पप्पू ,कंचन ,विजयालक्ष्मी ,अमृता, शारदा ,विनीता ,नीतू ,दर्शन ,अनवर, निहारीका सहित अन्य मौजूद रहे।