नेहा ने पौलेंड में लहराया परचम

760

यह हस्ताक्षर दशकों तक संग्रहित रखा जाएग।

सहरसा। सहरसा की बेटी आकांक्षा नेहा ने विदेश में बिहार का गौरव बढ़ाया है। पौलेंड में एमए बिजनेस लॉ में सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने पर पौलेंड के राष्ट्रपति निवास में वर्ष 1918 से रखे रिकॉर्ड बुक पर हस्ताक्षर किया। यह हस्ताक्षर दशकों तक संग्रहित रखा जाएग।

प्रतापनगर निवासी डॉ. प्रो. अर¨वद ¨सह व प्रो. लीना कुमारी की पुत्री एवं दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. पी. भास्कर की भांजी आकांक्षा नेहा सेंट जेवियर्स स्कूल सहरसा से 10वीं की परीक्षापास की थी। जमशेदपुर से बारहवीं की परीक्षा उत्तीर्ण हुई। तमिलनाडू के मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज से कॉरपोरेट इकोनोमिक्स में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की थी। वहां से जीमेट की परीक्षा पास करने के बाद लंदन के लंदन बिजनेस स्कूल से फाइनेंस में एमबीए की डिग्री हासिल की। उसके बाद वारसा (पौलेंड की राजधानी) में सिटी बैंक इन्वेस्टमेंट बैंकर के रूप में काम करते हुए मिसजनिको स्कूल ऑफ एजुकेशन और एडमिस्ट्रेशन संस्थान से एमए बिजनेस लॉ में 90 फीसद अंक लाकर सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया। इस प्रतिष्ठित कोर्स में सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने के बाद इन्हें पौलेंड के राष्ट्रपति निवास में रखे रिकॉर्ड बुक में हस्ताक्षर करने का मौका मिला। नेहा ने बताया कि बिहार से वह पहली लड़की है। जिसे यह सम्मान मिला है। इसे दशकों तक संग्रहित रखा जाता है। वहीं नेहा के इस उपलब्धि पर स्थानीय लोगों ने हर्ष जताया है। श्रोत @दैनिक जागरण