जरूरतमंद की मदद के लिए रोजा तोड़कर इरशाद ने किया रक्तदान

Kunal Kishor
kunal@koshixpress.com
873

सोशल मिडिया का प्रयोग करते हुए रक्तवीरों को इसकी सूचना दी

सहरसा/दिल्ली : रक्तदान के प्रति जागरूकता नहीं रहने के कारण जहां आम दिनों में भी लोग रक्तदान करने से डरते है वहीँ रमजान में रोजा रहने की वजह से भी लोग कमजोर होने के डर से रक्तदान नहीं करते ।इस सभी सोच को पीछे छोड़ते हुए सहरसा में आई मदद की गुहार पर दिल्ली में एक जरूरतमंद की मदद के लिये सामने आये मो0 इरशाद आलम ।

मधेपुरा निवासी मो आसिफ, जिनके पेट का ऑपरेशन aiims दिल्ली में होना है, उन्हें रक्त की बेहद जरूरत थी । उनके किसी रिश्तेदार ने रक्तदानी महादानी के संस्थापक विष्णु कुमार से संपर्क किया। पूरी जानकारी लेने के बाद विष्णु कुमार ने सोशल मिडिया का प्रयोग करते हुए रक्तवीरों को इसकी सूचना दी।

सूचना पाकर टीम के सदस्य सिमरी बख्तियारपुर रानीबाग निवासी मो0 शमशाद के पुत्र मो0 इरशाद आलम ने सहर्ष रक्तदान की सहमति दी। ज्ञात हो कि अभी रमज़ान के महीने में रोज़ा रहने के कारण चिकित्सीय सलाह के अनुसार मो0 इरशाद ने रक्तदान कर जान बचाने का निर्णय लिया ।मो0 इरशाद ने बताया कि जरूरतमंद के काम आना ही सबसे बडी इंसानियत है । जब इंसान को खुद रक्त की आवश्यकता पड़ती है तब पता चलता है कि रक्त की अहमियत क्या है । इसलिये सभी को रक्तदान करना चाहिये ।

ज्ञात हो कि रक्तदानी महादानी टीम ने एक साल से भी कम समय में जरूरतमंदों को निःशुल्क रक्त उपलब्ध कराने का एक मजबूत टीम बना लिया है। जो विभिन्न राज्यों व शहरों में रक्त उपलब्ध कराती है।

मरीज मो0 आसिफ के परिजनों ने विष्णु कुमार, मो0 इरशाद सहित रक्तदानी महादानी टीम के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया है ।