एक्शन रिसर्च हेतु ईस्ट एन वेस्ट के छात्रध्यापक रवाना !

397

फिल्ड एजुकेशन हेतु विक्रमशिला विश्वविद्यालय, भागलपुर रवाना 

सहरसा : स्थानीय पटुआहा स्थित ईस्ट एन वेस्ट टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज  सहरसा में नामांकित B.Ed एवं D.El.Ed के छात्रध्यापकों को एक्शन रिसर्च ओन फिल्ड एजुकेशन हेतु विक्रमशिला विश्वविद्यालय भागलपुर के लिए  महाविद्यालय के चेयरमैन डा. रजनीश रंजन ने हरी झंडी दिखाते हुए अंशु कुमार गुप्ता के नेतृत्व में रवाना किया ।इस मौके पर डा. रजनीश रंजन ने कहा की क्रियात्मक अनुसंधान अधिगम का एक ऐसा भाग है जिसके द्वारा अधिगम संबंधी समस्याओं को आसानी से हल किया जा सकता है, दरअसल एक्शन रिसर्च दो प्रकार का होता है, पहला पार्टीसिपेट्री एवं प्रक्टिकल सर्वप्रथम हिंदुस्तान में वर्ष 1944 में इसकी शुरुआत अल्पसंख्यकों के समस्याओं के समाधान हेतु विद्यार्थियों द्वारा किया गया |

​NCTE अधिनियम 2014 द्वारा पहली बार इसे B.Ed पाठ्यक्रम में जोड़ा गया है।इस मौके पर महाविद्यालय के निदेशक शैक्षणिक प्रो. संजीत कुमार सिंह ने कहा की शिक्षा शास्त्र की दुनिया में ईस्ट एन वेस्ट पहला संस्थान है जो क्रियात्मक अनुसंधान एवं पाठ्यक्रम अनुसंधान हेतु लगातार प्रयासरत है साथ ही हमें गर्व है की हम सब इस महाविद्यालय के एक अंग हैं।

​क्रियात्मक अनुसंधान संयोजक श्री अंशु कुमार गुप्ता ने कहा की क्रियात्मक अनुसंधान के जरिये विक्रमशिला विश्वविद्यालय के स्थापना काल से आज तक का अध्ययन करेंगे खास करके विश्वविद्यालय के स्थापना काल का प्रबंधन एवं शिक्षा दर्शन का विशेष अध्ययन करेंगे और ऑन स्पोट रिपोर्ट जमा करेंगे | B.Ed एवं D.El.Ed के लगभग 112 छात्र अध्यापक सहित 10 प्राध्यापक इस अनुसंधान में भाग लेने निकले | साथ ही कल दिनांक 14/03/2018 को अनुसंधान रिपोर्ट के आधार पर सभी सहभागियों को प्रमाण पत्र दिया जायेगा |
इस मौके पर महाविद्यालय के सभी शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने महाविद्यालय के चेयरमैन डा. रजनीश रंजन को इस तरह अनुसंधान हेतु प्रेरणा देने के लिए साधुवाद दिया ।