ट्रेन एवं स्टेशनों पर भी सैनिटरी नैपकिन उपलब्ध होना चाहिए : ऋचा सिंह

9204

यार ट्रेन में सैनिटरी पैड होना चाहिए….

सहरसा डेस्क :हमारे देश में पीरियड्स एक ऐसा विषय है जिसके बारे में दबी जबान से ही बात की जाती है और इसे लेकर बात करने में सहज नहीं महसूस करते हैं।

लेकिन सहरसा की बेटी ऋचा सिंह ने इस मुद्दे पर अपने फेसबुक पेज पर लोगो से राय मांगते हुए इसे बिहार जैसे पिछड़े राज्यों में हवा देने की कोशिश की है ऋचा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखी है.. ” Yaar trains मे sanitary pads होना चाहिए … periods होने पे समझ नही आता क्या किया जाए..”

यह पोस्ट करने के साथ ही लाइक के साथ कॉमेंट भी अलग-अलग विचार धारा के तहत आने लगा पर वह मानने वाली कहा थी उसके बाद उसने अपनी बात रेल मंत्रालय तक पहुंचाने के लिए रेलमंत्री पीयूष गोयल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रेल मंत्रालय को टैग करते हुए ट्विटर पर ट्वीट कर दी और अब वह ट्वीट धीरे-धीरे रीट्वीट हो रही है हालांकि अब तक कुछ जबाब तो नही आया पर ट्वीट को पसंद किया जा रहा है ,कई लोग रीट्वीट भी कर रहे है । लेकिन जो भी हो इस लड़की की हिम्मत को दाद देनी पड़ेगी की जिस पीरियड को लड़कियां,महिलाएं दूसरों से छिपा कर रखती है। या फिर नेपकन खरीदने के समय ।

वही जाने-माने फ़िल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने पेड मेन फिल्म बनाकर एक ऐसा काम किया है जिसकी वजह से शायद लोग(महिलाएं/लड़कियाँ) अब खुलकर इसके बारे में बातें करें। अक्षय कुमार ने एक मीडिया हाउस को इंटरव्यू में कहा है कि “ये बहुत दुर्भाग्य की बात है कि 82% महिलाए आज भी सैनिटरी नैपकिन की पहुंच से दूर हैं और उन्हें इस दौरान किसी बाहरी व्यक्ति की तरह ट्रीट किया जाता है। हालांकि रेलवे और मध्यप्रदेश शासन एवं अन्य के सहयोग से भोपाल रेलवे स्टेशन पर पहला सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन लगाया गया है । जिसमे 5 रूपये का सिक्का देने के बाद दो नेपकिन दिए जाने की जानकारी मिली है ।