पद्मावती में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है -किशोर मुन्ना !

0
382

सहरसा @कुणाल :राजस्थान से होते हुए फिल्म पद्मावती का विरोध बिहार के सहरसा जिले तक आ पहुंचा। यहां के बीजेपी, श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना,बजरंग दल,विश्व हिन्दू परिषद ,यूथ फोरम,विश्व सनातन संघ,आज़ाद युवा विचार मंच,महाकाल सेना द्वारा शंकर चौक से समाहरणालय तक निकले पैदल प्रतिरोध मार्च में समाज के युवाओं ने फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली के खिलाफ जम कर नारेबाजी की और पुतला फूंका ।

इस मौके पर भाजपा नेता सह पूर्व विधायक किशोर कुमार मुन्ना ने कहा कि संजय लीला भंसाली द्वारा बनाई गयी फिल्म पद्मावती में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी से जुड़े ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है।

आदर्श थीं रानी

पूर्व विधायक किशोर कुमार मुन्ना का कहना था कि रानी पद्मावती, हिंदुओं के लिए आदर्श थीं और उन्होंने प्रजा की रक्षा व आन-बान-शान के लिए जौहर किया था। विरोध प्रदर्शन कर रहे समाज के युवाओं ने ज़िला पदाधिकारी के माध्यम से भेजे गए ज्ञापन से केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय से मांग की है कि भंसाली के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए एवं फ़िल्म के प्रसारण पर रोक लगाया जाए। अगर एेसा नहीं किया गया तो आंदोलन को और व्यापक किया जाएगा।

ये थे उपस्थित

परिरोध मार्च सह पुतला दहन कार्यक्रम में करणी सेना के मुकेश कुमार सिंह,भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता डॉ0 शशि शेखर सम्राट,भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष राजीव रंजन,भाजयुमो के जिला अध्यक्ष सिद्धार्थ सिंह सिद्धू,भाजपा महामंत्री दिवाकर सिंह,युथ फोरम के संगम सिंह राजपूत,पंकज कुमार,विकास यादव,रजनीश झा,प्रतिकेश छोटू,दीपक सिंह,सोमू आनंद,ज्योति सिंह,कंचन सिंह,राजीव सिंह बौआ,विजय सिंह,नन्हे सिंह,पुन्नू सिंह सहित सैकड़ो समाजिक,राजनीतिक कार्यकर्ता मौजूद थे ।