पत्नी की विदागरी करने गए पति को ससुरालवालों ने कर दिया दुनिया से विदा,ससुराल पक्ष के सारे लोग फरार !

1126

बिहार के सहरसा में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है | प्राप्त जानकारी अनुसार 24 वर्षीय पति रंजीत यादव अपनी पत्नी नूतन देवी की विदागरी करने ससुराल गए थे पर सदर थाना के तिलावे नदी के पास बोरा में बंद मिली लाश ।लाश मिलने के बाद से उसके ससुराल पक्ष के सारे लोग फरार हो गये हैं।

मृतक के पिता
मृतक के पिता

क्या है मामला

रंजीत के पिता चंदेश्वरी यादव द्वारा पुलिस को दिये बयान में लड़की के पिता सहित उसके घरवालों पर मिलकर हत्या का आरोप लगाया है। रंजीत की गला रेतने के बाद लाश को पॉलीथिन से ढककर उसे बोरा में बंद कर तिलावे नदी के किनारे में फ़ेंक दिया। बनगांव थाना के बरियाही बस्ती निवासी रंजीत यादव की शादी चार साल पूर्व सदर थाना के सिमराहा निवासी सुरेश यादव की बेटी से हुई थी। शादी के बाद से ही पति पत्नी के सम्बन्ध में तनाव था। इसे दूर करने के लिए सामाजिक स्तर पर कई बार पंचायत भी हुई। इसी पंचायत के बाद रंजीत नवमी के दिन अपाची बाइक लेकर पत्नी की बिदागरी करने ससुराल पहुंचा। उसी दिन रंजीत को बरियाही लौटना था। देर रात्रि नहीं पहुँचने पर रंजीत के पिता ने अपने समधी सुरेश यादव को फोन किया तो बताया गया कि बारह को बिदागरी होगा। जब बारह को भी रंजीत घर नहीं पहुंचा तो उसके पिता ने फिर दुबारा फोन किया। उस पर बताया गया कि रंजीत चला गया। अनहोनी की आशंका से परेशान रंजीत के पिता कुछ और लोगों के साथ सिमराहा पहुंचकर पता करने में जुट गये। इसी बीच शुक्रवार को किसी ने बताया कि तिलावे नदी के किनारे युवक की लाश है। उसे देखने के बाद चंदेश्वरी यादव सहित सबों के होश उड़ गये। चार साल की शादी के बाद भी बिना संतान के रहे 24 वर्षीय रंजीत की निर्ममता से गला रेतकर हत्या कर दी गयी थी।koshixpress

सदर थाना प्रभारी संजय सिंह ने बताया की रंजीत के पिता के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर अनुसन्धान किया जा रहा है। रंजीत के पिता ने बताया की पत्नी की बिदागरी करने ससुराल पहुंचा रंजीत को उसके ससुराल वालों ने मिलकर इस दुनिया से ही विदा कर दिया। इस मामले में रंजीत की पत्नी नूतन देवी सहित ससुर सुरेश यादव सास बादो देवी और संजय यादव नरेश यादव और प्रमोद यादव को अभियुक्त बनाया गया है। अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है।