मधेपुरा में अब भी तनाव बरकरार,पथराव में डीएम ज़ख़्मी,थानाध्यक्ष निलंबित,निषेधाज्ञा लागू ,सड़के सुनसान !

1454
शांति समिति की बैठक में पदाधिकारी एवं प्रतिनिधी

मधेपुरा : (संजय कुमार सुमन ) : जिले के बिहारीगंज में दुर्गा मेला में हुए विवाद को लेकर आज़ शांति समिति की बैठक आयोजित की गई।जिसमे जिले के सभी पदाधिकरी और स्थानीय लोग शामिल हुए। शांति समिति की बैठक में समझौता होने के बावजूद एक बार फिर से तनाव भड़क गया है। आगजनी की घटना के बाद प्रशासन को आंसू गैस के गोले छोड़ेने पड़े और लाठीचार्ज भी किया गया। घटना को देखते हुए निषेधाज्ञा लागू कर दिया गया है। सड़के सुनी पड़ी है। बावजूद इसके प्रशासन और जनप्रतिनिधि शांति की अपील दोनों समुदाय से कर रहें हैं।

टायर जला कर विरोध प्रदर्शन
टायर जला कर विरोध प्रदर्शन

मालूम हो कि दशहरा के दौरान आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में महिलाओं से कथित छेड़खाने के मुद्दे पर बिहारीगंज में व्याप्त तनाव आज़ गुरुवार को भी जारी है। आज़ फिर पथराव हुआ। इसमें डीएम मो.सौहेल के भी चोटिल होने की सूचना है। डीएम माहौल शांत कराने पहुंचे हुए थे। सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के साथ भी भीड़ ने दुर्व्यवहार किया। बढ़ते तनाव को देखते हुए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े । एसपी विकास कुमार ने थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है।

एसपी के नेतृत्व में फ्लेग मार्च करती पुलिस
एसपी के नेतृत्व में फ्लेग मार्च करती पुलिस

बताया जाता है कि सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान महिलाओं से छेड़खानी की बात सामने आने पर लोगों का गुस्सा एक वर्ग विशेष के खिलाफ भड़क गया था। मंगलवार की रात में ही लोगों ने एसडीएम रहमत अली और एसडीपीओ मुकेश कुमार की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया था । इस मामले को लेकर बुधवार की शाम को भी बिहारीगंज में तनाव के माहौल रहे। बुधवार को भी यहाँ आंसू गैस के गोले छोड़े गए थे।

शांति समिति की बैठक में पदाधिकारी एवं प्रतिनिध
शांति समिति की बैठक में पदाधिकारी एवं प्रतिनिधी

बिहारीगंज में अब भी तनाव बरकरार है और प्रशासन,जनप्रतिनिधि और पुलिस के वरीय अधिकारी कैंप कर रहे हैं। शांति समिति की बैठक के बाद एक पक्ष द्वारा टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया जिसके बाद माहौल और भी तनाव पूर्ण हो गया। नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठी चार्ज किया है। डीएम ने लोगों को समझाने की भरपूर कोशिश में जुटे रहे।

इस बीच एसपी ने घटना को लेकर थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है। अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया गया।आयोजित शांति समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी मो.सौहेल ने कहा कि लोगों का ध्यान विकास की ओर जाना चाहिये ना कि विनाश की ओर। मैं आज यहां हूं कल नहीं रहूंगा। अगर आज मेरा तबादला हो जाए तो मुझे जाने में दस मिनट का भी समय नहीं लगेगा। रहना आप सबों को है । हर हाथ को रोजगार की जरूरत है। विकास के लिए शांति के साथ रहना बहुत आवश्यक है। जिले में विकास कई बड़े काम शुरू हो चुके हैं। इसमें बड़े पैमाने पर लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है।

पैदल मार्च कर शांति की अपील करते नीरज बबलू एवं किशोर कुमार
पैदल मार्च कर शांति की अपील करते नीरज बबलू एवं किशोर कुमार
संबोधित करते सांसद पप्पू यादव
 संबोधित करते सांसद पप्पू यादव

कुस्थन के पूर्व मुखिया मो.आजाद ने अपने संबोधन में कहा कि घटना के दूसरे दिन थानाध्यक्ष से कहा कि दोषी को गिरफ्तार कीजिये परंतु उसने नही किया । जिससे लोगों में गुस्सा हुआ और उक्त घटना घटी। बाहर से आए चंद लोग बाजार में शांति व्यस्था में खलल डाल रहे हैं उस पर रोक लगे।

हथिऔंधा के मो.कलाम ने कहा कि चंद असमाजिक तत्वों के कारण यह घटना घटी हैं,जो निंदनीय है। हम सभी शांति व व्यवस्था चाहते हैं। हर हाल में शांति स्थापित हो।

बाजार के व्यवसायी जीवन कुमार सिंह ने कहा कि शांति की बात सभी करते हैं पर शांति स्थापित कैसे हो इस ओर कार्य नहीं हो रहा हैं। दोषी पर कारवाई हो इसके बाद ही शांति स्थापित होगी।

शरारती तत्वों को पकड़ती पुलिस
शरारती तत्वों को पकड़ती पुलिस

भाजपा के वरिष्ठ नेता सह पूर्व मंत्री डा.रवीन्द्र चरण यादव ने दोषी दारोगा और एसडीपीओ पर कारवाई करने की बात को जोरदार तरीके से रखा। विधायक निरंजन मेहता ने भी कहा कि दोषी पर कारवाई हर हाल में होगा। रणगाह के स्थानांतरण पर भी बाद में दोनों समुदाय के लोगों के बीच बैठकर इस पर बात होगी।

सांसद लोगों को समझाते हुए
सांसद लोगों को समझाते हुए

नेता अब्दुल सत्तार ने कहा कि सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्ता हमारा,सबको जीने का अधिकार है, मुठठी भर लोग शांति में भंग डाल रहे है। बिना गांव के बाजार नहीं और बाजार के बिना गांव नहीं। जो हो गया वह अब दोबारा नहीं होना चाहिए। सभी समुदाय के लोग शांति व अमन से रहें।

मधेपुरा सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव,पूर्व मंत्री व विधायक नरेंद्र यादव,सोनवर्षा के पूर्व विधायक किशोर कुमार मुन्ना,छातापुर के विधायक नीरज कुमार बबलू,डीडीसी मिथिलेश कुमार ,राजद के जिला अध्यक्ष देवजिशोर यादव समेत दोनों समुदाय के स्थानीय जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे। बैठक में निर्णय लिया गया की दोषी पर अविलंब कारवाही की जाय और इस घटना की जाँच कर यहाँ के दोषी अधिकारीयों का तुरंत तबादला किया जाय।

बहरहाल अब भी तनाव व्याप्त है।कब कौन सी घटना हो जाय कहा नही जा सकता है।बावजूद इसके चप्पे चप्पे पर पुलिस बल मुस्तैद है। फिलहाल माहौल शांत दिख रहा है।