विजयादशमी के बाद मनेगी मुहर्रम,ऐतिहासिक फैसला !

1534

सहरसा (राजीब कुमार झा) : जिले में मुहर्रम को ले कर इस बार ऐतिहासिक फैसला लिया गया है । सदर एसडीओ जहाँगीर आलम ने बताया कि इस बार विजयादशमी 11 अक्टूबर को हो रही है और उसी दिन मुहर्रम भी है । सहरसा में दुर्गा पूजा कई जगह होती है और उसी दिन अगर मुहर्रम हुआ तो बेहतर तरीके से लोग पर्व का आनंद नहीं ले पायेगें|

सदर थाना सहरसा में आयोजित शांति समिति की बैठक में ख़ास कर के यह निर्णय लिया गया कि इस बार मुहर्रम बारह एवं तेरह अक्टूबर को मनाया जायेगा । इस निर्णय का सब से मुख्य कारण यह है कि सहरसा जैसे शहर में हिन्दू और मुस्लिम समाज एक है और सभी पर्व साथ साथ मानते है । सभी वर्ग के लोग विजयदशमी और मुहर्रम का आनंद ले इसीलिए मुहर्रम के तिथि को बदल दिया गया है। सदर एसडीओ जहाँगीर आलम ने बताया कि दुर्गा पूजा से लेकर मुहर्रम तक चप्पे चप्पे पर नजर है सभी लोग शांति पुर्बक आनंद ले अगर कोई उपद्रवी कुछ हरकत करते पाये गये तो उनके ऊपर कठोर कानूनी कार्यवाई की जायेगी।

शांति समिति की बैठक में एसडीपीओ सुबोध विश्वास,सदर थानाध्यक्ष संजय सिंह सहित महबूब आलम जिबु,सहाबुद्दीन,मो0 कल्लू,मो0मनान,मो0 लाल,अंजुम हुसैन, मसरुफ हुसैन, मो0 अनवर,इस्लाम,नईम अंसारी,शिव नारायण पासवान,जवाहर पासवान,आदि कई गण्यमान लोग मौजूद थे।