बिहार का दो लाल देहरादून में मचा रहा धमाल,अर्जुन की तरह अचूक निशाने का दोनों भाई है स्वामी !

2397

निशानेबाजी प्रतियोगिता में बिहार का दो लाल उतराखंड में धमाल मचा रहा है |बिहार के कोशी प्रमंडलीय मुख्यालय सहरसा का दो भाई सोलह वर्षीय देवांस प्रिय और बारह वर्षीय एकांश प्रिय निशानेवाजी प्रतियोगता में 13वी उत्तराखंड इंटर स्कूल /कॉलेज रायफल शुटिंग प्रतियोगिता में एक बार फिर से अपनी अचूक निशानेवाजी के दम पर देहरादून के ल्युशेन्ट इण्टरनेशनल स्कूल का नेतृत्व करते दोनों भाई देवांश ने सात स्वर्ण पदक व एक सिलवर पदक एव ऐकांश ने दो स्वर्ण पदक लाकर अपने  स्कूल,बिहार सहित कोशी क्षेत्र का नाम रोशन करते हुए मेडलों की झरी लगा दिया है |

देवांश प्रिय
देवांश प्रिय
एकांश प्रिय
एकांश प्रिय

रायफल शुटिंग में एक बार फिर से परचम लहराया 

बचपन की पढाई सहरसा में करने के बाद दोनों भाइयों को 2013 में देहरादून के लूसेंट इंटर नेशनल स्कूल में नामांकन कराया गया। सरकारी सेवा से निवृत होने वाले लक्षमण सिंह के दोनों पोते को शंटिंग चैम्पियन बनने का जूनून बचपन से ही था। पत्रकार बुद्धिनाथ सिंह और गृहिणी श्वेता सिंह के पुत्र 11वीं क्लास के देवांश और सातवीं क्लास के एकांश की सबसे बड़ी तमन्ना देश के लिए शूटिंग चैम्पियन में नाम रोशन करना है।चैम्पियनशिप प्रतियोगिता में दोनों भाइयों के कारनामे पर बजी तालियों की गड़गड़ाहट ने बिहार के पिछड़े जिले माने जाने वाले सहरसा का सम्मान भी उत्तराखंड में बढाकर रख दिया है।

पत्रकार मनोज कुमार झा,भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश प्रवक्ता शशीशेखर झा सम्राट ने दोनों भाइयो  के इस उपलब्धि पर बधाई देते हुए कहा कि देवांश और एकांश का शूटिंग के प्रति जुनून यह साबित करता है कि भविष्य के ओलम्पिक चैम्पियन में रियो की तरह निराशा हाथ नहीं लगने वाली है।और दोनों भाई सहरसा,बिहार सहित देश का नाम रौशन करेगा |

पूर्व में भी बन चूका है  चैम्पियन

सहरसा के दोनों सहोदर भाइयों देवांश प्रिय और एकांश प्रिय ने इससे पूर्व  पन्द्रहवां  उत्तराखंड स्टेट शूटिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड और सिल्वर जीत चूका है |उतराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत और राज्यपाल कृष्णकांत से सम्मानित भी हो चूका है ।