बाढ़ पीड़ीतो ने राहत शिविर में कुव्यवस्था को लेकर किया सड़क जाम !

1410
बथनाही के समीप सड़क जाम कर प्रदर्शन कर रही बाढ़ पीड़ित महिलाएं एवं बच्चे।

शिविर में पेट भर नही दिया जाता खाना, बीडीओ के आश्वासन पर टुटा जाम

सिमरी बख्तियारपुर,सहरसा, ब्रजेश भारती : सरकार के द्वारा बाढ़ पीड़ीतों के लिये चलाये जा रहे राहत शिबिर में कुव्यवस्था को लेकर शनिवार को बनमा ईटहरी प्रखंड के दर्जनों बाढ़पीड़ीतो नें सड़क जाम कर रोषपूर्ण प्रर्दशन किया। शिविर के व्यवस्थापक सीओ रंधीर प्रसाद के विरूद्ध जमकर नारेबाजी करते हुये धांधली किये जाने का आरोप लगाया। प्रदर्शन कर रहे बाढ़पीड़ीत जौहल पंडित,मंजू देवी,पबीया देवी,तिलिया देवी,मोला देवी,बुल्की देवी,दशरथ शर्मा,शाति देवी,चंदा देवी,सुनीता देवी,आशा देवी,महेन्द्र शर्मा,चंद्रकिशोर पंडित आदि ने बताया की मध्य विद्यालय हाथमंडल में बाढ़ पीड़ितों के लिए खोली गई बाढ राहत शिविर में काफी कुव्यवस्था है दिन में सिर्फ एक बार आधी पेट खाना दिया जाता है,नाश्ता के लिए कोई व्यवस्था नहीं है दिन में दिये जा रहे खाना आधे पेट भी नही होता है,दाल में अधिक मात्रा पानी का रहता है,सब्जी तो नाम मात्र ही दिया जाता है।हंगामा की सूचना पर पहुंचे बीडीओ नूतन कुमारी के वाहनों को भी बाढ़पीड़ीतो ने रोक दिया बीडीओ को काफी देर तक प्रदर्शनकारियों से जुझना पड़ा।उन्होने विधि व्यवस्था में सुधार लाने की आश्वासन देते हुए कही कि बाढ़ पीड़ितों के साथ किसी प्रकार की कोताही नहीं होनी चाहिए। हमने अंचल अधिकारी से बात कर सुधार लाने की प्रयास करेंगे। इसी अश्वासन पर बाढ पीड़ित ने जाम को खत्म किया। वही अचलाधिकारी रंधीर प्रसाद ने बताया कि जो लोग शिविर में रहते है उसे दोनो वक्त का खाना दिया जाता है जो लोग रात को नही रहते है उसे कैसे खाना दिया जायेगा।नास्ता का व्यवस्था शिविर में नही है।

उधर लोजपा नेताओं ने शिविर के नाम पर लुट होने की बात कही है।लोजपा के दलित महासचिव रामकुमार पासवान एवं लोजपा प्रखंड युवा नेता अमरेंद्र कुमार यादव ने कहा कि राहत शिविर लूट-खसोट का अड्डा बन गया है। प्रत्येक दिन चार सौ से पांच सौ लोगो को ही एक समय का भोजन दिया जा रहा है। इनलोगों की मांग थी की बाढ़पीडीतो को सुखा राशन ही दिया जाता तो लुट की संभावना नही होगी। नही तो जबतक शिविर जलेगा सरकारी मुलाजीमों का पेट भरता रहेगा।