हिंदी दिवस समारोह : हिंदी का अधिक से अधिक प्रयोग करे – आयुक्त

759

कोशी प्रमंडलीय आयुक्त ने सभी कार्यालयों को हिन्दी में काम करने का आग्रह किया है ।प्रमंडलीय आयुक्त कुंवर जंग बहादुर प्रमंडलीय सभागार में 14 सितम्बर को आयोजित हिंदी दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे |अपने अध्यक्षीय संबोधन में उन्होंने कहा की भारतीय समविधान सभा 1949 में आज ही के दिन हिन्दी को राजभाषा बनाने का निर्णय लिया था । लेकिन दुर्भाग्यवश अंग्रेजी जैसी अन्य भाषाओं की तुलना में हिन्दी का उतना विकास नहीं हो सका |वैसे हिन्दी भाषा का व्यापक विस्तार हुआ है । हिन्दी से प्रशासन व आमजन में संवाद बढ़ी है। मुम्बईया हिन्दी फिल्मों के माध्यम से भी इसका काफी विकास हुआ है हम सबों का दायित्व है हिन्दी को अपनायें और इसके विकास के लिए कार्य करें। उन्होंने सरकारी कार्यालयों सहित सभी जगहों पर हिन्दी में कार्य करने की अपील की।koshixpress

कोशी प्रमंडलीय सभागार में समारोह आयोजित

हिन्दी दिवस के अवसर पर आयुक्त के सचिव ब्रजनंदन प्रसाद ने भारतीय जनमानस का सोच है कि हिन्दी समृद्ध बनें और तेजी से इसका विकास हो हिन्दी में बोलचाल भी आवश्यक है। हमलोग अपनी भाषा को तरजीह देंगें तो इससे अवश्य हीं सम्मान मिलेगा। उच्च न्यायालय एवं अच्चतम न्यायालय में भी हिन्दी में कार्य होने चाहिए जिससे इसका विकास हो सकेगा। सभी भाषा का ज्ञान अच्छी बात है। लेकिन हिन्दी को अपनी भाषा बनाये रखने की जरूरत है। देश के लगभग सवा सौ करोड में 90 प्रतिशत लोग हिन्दी बोलते हैं। पूरे विश्व में हिन्दी बोलने वाले की जनसंख्या कम नहीं है। हिन्दी प्रबल है हिन्दी को मजबूत करें। हिन्दी हमारी ताकत है। हिन्दी बोलने और समझने में सरल है। शिक्षक संस्थान, कार्यालय, विद्यालय, हर जगह हिन्दी का प्रयोग हो।हिन्दी को आगे बढ़ाये।koshixpress

हिन्दी का प्रचार-प्रसार आम जनों के बीच करें

क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक प्रभा शंकर ने कहा हिन्दी ऐसी भाषा है। जो आसानी से सीख लेते है। हिन्दी दिवस के अवसर पर उपस्थित कवियों ने अपने कविताओं एवं अपने विचार प्रकट किये। उक्त अवसर पर आयुक्त के सचिव ब्रजनंदन प्रसाद, क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक प्रभा शंकर सिंह, जर्नादन प्रसाद, अनिल पाण्डेय, किरण सिंह, उपनिदेशक जनसम्पर्क बिन्दुसार मंडल, मुक्तेश्वर प्रसाद सिंह, डॉ० अरबिन्द कुमार सिंह, कवि महेन्द्र बन्धु, आनंद कुमार झा, श्यामल किशोर सिंह पथिक, पदाधिकारी गण, कर्मी गण उपस्थित थे।