कोसी नदी में नाव डूबने से एक की मौत,नाव पर अधिकांश महिलाएँ एवं बच्चे थे सवार,तैर कर बचाई जान !

2521
नाव से घास लाती महिला

संजय कुमार सुमन : बिहार के मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड अन्तर्गत फुलौत के कोसी नदी के बरियारी धार में नाव डूबने से एक लड़की की मौत हो गई।नाव पर कुल तेरह लोग सवार थे।सभी लोग तैर कर अपनी जान बचाई। नाव पर अधिकांश महिलाएँ एवं बच्चे शामिल थे।घटना का कारण तेज हवा बताया जाता है।

विलाप करते परिजन
विलाप करते परिजन

मालूम हो कि फुलौत कोसी नदी के कछार पर अवस्थित है और इन दिनो कोसी नदी उफान पर है।फुलौत के कई गांव बाढ़ की चपेट में है।सैकड़ों एकड़ में लगी फसल बर्बाद हो गई। बाढ़ से सबसे ज्यादा पशुपालको को नुकसान हुआ है।पशुपालनको को अपने पशुओं को खिलाने के लिये चारा का घोर अभाव हो गया है। आज सोमवार को करीब साढ़े ग्यारह बजे छोटी नाव पर सवार कर फुलौत की महिलाएँ एवं बच्चे पशुचारा के लिये रटना बहियार जा रहे थे कि तेज हवा बहने लगी और बरियार धार में नाव पलट गई।

शव को देखने के लिये फुलौत थाना में उमरी भीड़
शव को देखने के लिये फुलौत थाना में उमरी भीड़

नाव डूबने की सूचना मिलते ही आस पास के गोताखोर और फुलौत पश्चिमी के सरपंच जयनारायण मेहता अपने नाव पर गोताखोर संतोष मेहता,प्रकाश मेहता,रवीन मेहता,संजीव कुमार को लेकर घटना स्थल पर जाकर डूबे लोगों को निकला और जिसमें एक लड़की को बचाया नही जा सका। जिसकी लाश को निकाला। मृतक   फुलौत पश्चिमी पंचायत के शर्मा टोला निवासी विलक्षण शर्मा की 12वर्षीय पुत्री अरुहली कुमारी के रुप में की गई। पानी से बाहर आये निभा देवी,नीलम कुमारी,संजुला देवी,चमेली देवी,प्रभा देवी,प्रमिला देवी,भामा देवी,रंजन देवी,रवि कुमार,मंगली कुमारी का इलाज फुलौत स्वास्थ केन्द्र में चल रहा है। इलाज कर रहे डा.बीजी शर्मा ने कहा कि सभी लोग खतरे से बाहर है।

नाव से घास लाती महिला
नाव से घास लाती महिला

फुलौत ओपी अध्यक्ष राजेश कुमार ने शव को बरामद कर अंत्यपरीक्षण के लिये मधेपुरा सदर अस्पताल भेज दिया है।घटना की जानकारी मिलते ही जिला परिषद अनीकेत कुमार मेहता,फुलौत पश्चिमी मुखिया पंकज मेहता,पूर्वी मुखिया बबलू ऋषिदेव मौके पर पहुंच कर पीरीत लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया और मृतक के प्रति शोक व्यक्त करते हुए सरकार से उचित मुआवजा की मांग की है।उधर मृतक के घर मातमी सन्नाटा पसरा है।मालूम हो कि हरेक साल फुलौत में शौचालय और घास को लेकर दर्जनों लोगों की मौत होती रही है।