राजनीतिक दलों को सनातन धर्म को बचाने के लिए आगे आना चाहिए – गिरिराज सिंह

1876

बिहार के सहरसा में आज स्थानीय कला भवन में धर्म जागरण समन्वय विभाग के द्वारा जनसंख्या का असंतुलन विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। बीएनएमयु मधेपुरा के पूर्व कुलपति डॉ रविन्द्र नाथ मिश्र के संचालन में आयोजित संगोष्ठी का संचालन अरविंद मिश्र नीरज ने किया।koshixpress

इस मौके पर केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि. यह धरती मंडन मिश्र, माँ भारती, जगद्गुरु शंकराचार्य व विद्यापति की धरती है इसी धरती से धर्म जागरण पूरे देश में इतिहास रचेगा। उन्होंने कहा कि जब तक देश में सनातन धर्म का बहुमत है तभी देश बचेगा। श्री सिंह ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों को अपने जूते खोलकर सनातन धर्म को बचाने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हिन्दूओं की आबादी घटेगी तो अशांति फैलेगी।koshixpress

केन्द्रीय मंत्री ने आकड़ों के जरिये पाकिस्तान, बांग्लादेश में हिन्दूओं के आबादी में कमी होने पर चिंता व्यक्त किया। उन्होंने मिडिया से कहा कि आप सौ गांवों का सर्वे कराएं आप पाएंगे कि जहाँ भी हिन्दूओं की संख्या है वहां अमन चैन बरकरार है। क्योंकि हिन्दू कभी कट्टरपंथी हो नहीं सकते हैं। उन्होंने बिहार को अलगाववादी की धरती बनने की ओर अग्रसर बताते हुए कहा कि आज बिहार में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगते हैं, पाकिस्तान के झंडे फहराये जाते हैं ओ सब मूकदर्शक बने रहते हैं। उन्होंने वोट बैंक के ठेकेदारों पर निशाना साधते हुए कहा कि जो आज तटस्थ है समय लिखेगा उनका भी इतिहास। उन्होंने पूरे देश में जनसंख्या नियंत्रण के लिये एक कानून बनाने की बात करते हुए कहा कि इस देश में समान नागरिक संहिता लागू करने की जरूरत है। जनसंख्या के नियंत्रण कानून का विरोध करने वाले लोगों के लिए कड़े कानून बनाने की आवश्यकता है।koshixpress

सेमिनार को  संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के धर्म जागरण समन्वय विभाग के क्षेत्रीय प्रचारक सूबेदार सिंह ने कहा कि केवल हिन्दू ही मनुष्य है। मनु की संतान मनुष्य है। मुसलमान मनुष्य नहीं वो तो मोमिन है। धर्म को मानने वाले कम से कम पांच बच्चे पैदा करें। एक देश के लिए, एक धर्म के लिए, एक अपने लिए। देश को बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करें नहीं तो पूरा देश कश्मीर बन जाएगा।koshixpress

वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के धर्म जागरण विभाग के क्षेत्रीय प्रचारक रामदत ने कहा भारत पूरी दुनिया का मार्गदर्शक रहा है। स्वामी विवेकानंद ने भारत को मोक्ष भूमि कहा था। उन्होंने कहा कि पूरे देश में समान नागरिक संहिता का पालन होना चाहिए। सब नागरिकों के लिये एक कानून बनाना चाहिए। समान नागरिक संहिता के लागू होने से देश की एकता, अखंडता व संप्रभुता बरकरार रह सकती है।koshixpress

संगोष्ठी में पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष अमरेन्द्र प्रताप सिंह ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर कार्यक्रम के संयोजक पूर्व विधायक किशोर कुमार मुन्ना, भाजपा जिलाध्यक्ष मदन प्रसाद चौधरी,भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष रामनरेश सिंह छातापुर के विधायक नीरज कुमार बबलू, पूर्व विधायक डॉ आलोक रंजन, संजीव कुमार झा, नीरज गुप्ता, डॉ एके चौधरी, भूपेंद्र प्रियदर्शी, शालिग्राम देव, पूर्व जिला पार्षद ललन सिंह, चंद्रकांत झा टीपू, केदारनाथ गुप्ता राजीव रंजन साह, शिवेन्द्र सिंह जीशू आदि मौजूद थे |