अस्पताल में पत्नी को छोड़ फरार हुआ पति,आखिर क्या है सच गुलशन उर्फ़ कंचन का ?

2426

बिहार के सहरसा में बीते 31 अगस्त को रेलवे स्टेशन पर गर्भवती पत्नी को प्रसव पीड़ा होने के बाद पर अस्पताल लाने वाला पति अपनी पत्नी को भर्ती कराने के बाद ईलाज के पैसे लाने जो निकला है वह करीब तीन दिन बीत जाने के बाद अब तक वापस नही आया है इधर उसकी पत्नी की आज तरके मौत हो गई,पर मासूम जीवित है। फिलहाल नवजात एनएसयू वार्ड में भर्ती और स्वस्थ है। दूसरी ओर मौत के बाद युवती के नाम व पता को लेकर पुलिस पशोपेश में है कि आखिर मृतका कौन है और कहा की रहने वाली है ?koshixpresskoshixpress

मौत की खबर के बाद अस्पताल पहुंचे सदर पुलिस ने जब तहकीकात शुरू किया तो मृतिका के बैग से पुलिस ने आधार कार्ड, बैंक पासबुक व रेल टिकट बरामद किया है। आधार कार्ड में बीबी गुलशन, पति मु. परवेज, लुधियाना अंकित है। जबकि पासबुक में भी यही पता है। जबकि अस्पताल के भर्ती पर्ची पर सुपौल जिले के करजाईन का पता लिखा है। लेकिन रेल टिकट समस्तीपुर से सहरसा का है। मृतका का मोबाइल भी उसके पास है। जिसमें कुछ नंबर सेव रहने पर उसपर पुलिस ने संपर्क करने की कोशिश की। परंतु कोई भी व्यक्ति मृतका को पहचान नहीं पा रहा है। हालाँकि देर शाम मृतिका के पहचान उसके पास से मिले मोबाईल में उसकी एक सहेली लुधियाना मॉडल टाउन की रहने वाली सोनिया ने कंचन के रूप में की जो बिहार की रहने वाली है और उसके पेट में सात माह का बच्चा भी है के रूप में की |सोनी ने जानकारी देते फ़ोन पर बताई की मृतका कुछ माह पहले भागकर अपने प्रेमी के साथ लुधियाना पहुंची थी। उसने बताया कि कंचन ही गुलशन है और उसका पति परवेज पहले से ही शादीशुदा है। शादी के बाद उसका नाम बदल दिया गया था। उसने बताया कि दोनों बिहार के रहने वाले हैं और लुधियाना में उसके घर के ऊपरी माले पर वो अपने पति के संग रहती थी। दो माह पहले वे लोग लुधियाना से बिहार आए थे।koshixpress

मृतिका की सहेली सोनी ने खुलासा करते हुए कहा की कंचन उर्फ़ बीबी गुलशन अपने अंतिम साँसे लेते वक्त अमन को बार बार बच्चा ले जाने की बात का कह रही थी वो अमन ही दरअसल परवेज है । लुधियाना के मॉडल टाउन में लोग उसे अमन नाम से ही बुलाते थे ।अमन का मोबाईल नम्बर कंचन के मोबाईल में मौजूद है ।koshixpress

बिहार के भभुआ की है कंचन उर्फ़ बीबी गुलशन 

बिहार के भभुआ में खलासपुर निवासी बिना खरवार के पुत्र राकेश खरवार से अख़लाक़पुर निवासी शेषनाथ प्रसाद की पुत्री कंचन की शादी 10 अक्टूबर 2010 में हुई थी |मृतिका कंचन का पति मुम्बई में काम करता था और उसी दौरान मृतिका कंचन अपने ससुराल से सास-ससुर से छुपकर फरार हो गई और डेढ़ वर्षो से फरार थी | भभुआ थानाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह को जब सहरसा से जानकारी दी गई तो वे जाँच पड़ताल में जुट गए  जिसके दौरान मृतिक के पति सहित उसके परिवार का पता लगाने में वे कामयाब रहे और और सहरसा से भेजे गये तस्वीर के आधार पर पहचान हो सकी की बीबी गुलशन ही है कंचन | थानाध्यक्ष ने बताया की जिले के वरीय अधिकारी के निर्देश मिलने के बाद मृतिका के पहले पति को सहरसा भेजा जायेगा और आगे की करवाई की जाएगी| koshixpress

क्या है पूरा मामला 

प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार की रात को सुपौल जिले के करजाइन थाना क्षेत्र का परवेज नामक व्यक्ति एक गर्भवती महिला को लेकर सदर अस्पताल पहुंचा। महिला बीबी गुलशन को अपनी पत्नी बताते हुए भर्ती कराया था |लोगों द्वारा जानकारी लेने पर परवेज ने बताया की वह लुधियाना जा रहा था। पत्नी को स्टेशन पर छोड़कर खाना लाने बंगाली बाजार के होटल में गया। वहां से खाना लेकर आने के बाद पता चला कि पत्नी के पर्स से किसी ने 25 सौ रुपये निकाल लिए। इसी बीच पत्नी को प्रसव पीड़ा शुरु हो गई। पत्‍‌नी को अधिक दर्द होता देख रिक्शा से किसी तरह लेकर सदर अस्पताल पहुंचा।भर्ती कारने के कुछ घंटे बाद ही महिला ने पुत्र को जन्म दिया।

अब सवाल यह उठता है की सहरसा पुलिस ने अपनी जाँच कहा तक आगे बढ़ा पाई है जो अब तक मृतिका को अस्पताल में भर्ती कराने वाला पति परवेज अब तक पुलिस पकड़ से बाहर है यदि सहरसा पुलिस  परवेज उर्फ़ अमन के मोबाईल को लोकेट करे तो अमन उर्फ़ परवेज गिरफ्त में आ जायेगा |