4 को मनाया जाएगा मिथिला लोक पर्व चौठ चन्द्र !

3275

मुकेश कुमार मिश्र :  मिथिला संस्कृति का लोक पर्व चौठ चन्द्र रविवार की संध्या मनाया जाएगा। जिसकी तैयारियों जोरों पर हैं। इस बार चौठ चन्द्र पर्व सर्वार्थ सिद्धि योग से मनाया जाएगा। जो काफी लाभदायक हैं।koshixpresskoshixpress

रविवार की संध्या आगंन या छत पर रंग बिरंगे अरिपन बनाया जाएगा। प्रसाद के रूप में उसके उपर छोटे छोटे मिट्टी के बर्तनों में दही, पकवान एवं कई तरह की मिठाई पश्चिम दिशा की ओर संध्या के समय रखा जाएगा। व्रतधारी महिलाएं के हाथों में बारी बारी से दहीं, पकवान की डाली, रख कर विभिन्न मन्त्रौउच्चारण के साथ चन्द्रमा को दूध एवं गंगाजल से अर्घय दिया जाता हैं। मिथिला संस्कृति का लोक पर्व हर्षोल्लास के साथ घर घर में लोग मनाते हैं।koshixpress

मिथिला पेंटिंग के चर्चित कलाकार ” मुक्ति झा” बताती हैं कि आज भी मिथिला संस्कृति का लोक पर्व धुम धाम एवं श्रद्धा पूर्वक मनाते हैं। सदियों से चली आ रही परंपरा आज भी मिथिला के लोगों ने बरकरार रखा है। उस दिन चन्द्रमा को अघ्यॅ देने के बाद ही लोग प्रसाद ग्रहण करते हैं। प्रत्येक घरों में एक महिलाएं निराधार उपवास करती हैं। संध्या में चन्द्रमा को अघ्यॅ देने के बाद व्रती पानी ग्रहण करती हैं। तथा प्रातःकाल उपवास निस्तार करती हैं। भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष चतुर्दशी को व्रत करने से रोग , व्याधि आदि से मुक्ति मिलती हैं।उस दिन हाथ में फल लेकर ही चन्द्रमा का दर्शन करना चाहिए।