निर्मार्णाधीन पाॅलटेक्निक कॉलेज का अधिकारियों ने किया निरीक्षण !

2044
निरीक्षण करते अधिकारी

संजय कुमार सुमन :  बिहार के मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड अंतर्गत  कलासन में निर्मार्णाधीन पाॅलटेक्निक महाविद्यालय भवन का पाॅलटेक्निक महाविद्यालय राघोपुर सुपौल के प्राचार्य आनंद मोहन खां समेत कई अधिकारियों द्वारा निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौराण भवन निर्माण कार्य में बरती जा रही अनियमितता पाई गई जिसे दूर करने का निर्देश संवेदक को दिया गया और शीघ्र ही भवन निर्माण का कार्य सही तरीके से पूर्ण करने की बात कही।koshixpress

मालूम हो कि 14 अपैल 2015 को मुख्यमंत्री नीतिश कुमार चौसा प्रखंड के पचरासी स्थल में लगने वाले बाबा विशु राउत मेला का उद्घाटन कर 35 करोड़ 94 लाख 79 हजार की लागत से कलासन में स्वीकृत पाॅलटेक्निक महाविद्यालय का शिलान्यास किया था। मार्च 2017 तक भवन निर्माण कार्य को पूरा करने का समय निर्धारित किया गया है। विभाग ने इसके लिए रांची के दीपांशू प्रमोटर एंड बिल्डर प्राइवेट लिमिटेड को कार्य करने की जिम्मेवारी दी है। निर्धारित अवधि में भवन निर्माण कार्य को पूरा करने के लिये संवेदक द्वारा दिन रात एक कर कार्य किया जा रहा है। विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग से एआईसीटीई से अनुमति लेकर छात्रों का नामांकन लेने का काम प्रारंभ कर दिया गया है। फिलहाल यहां चार संकाय की पढ़ाई होगी। पाॅलटेक्निक महाविद्यालय राघोपुर सुपौल के प्राचार्य आनंद मोहन खां को पाॅलटेक्निक महाविद्यालय कलासन का प्रभारी प्राचार्य नियुक्त किया गया है।koshixpress

प्राचार्य श्री खां ने पाॅलटेक्निक महाविद्यालय कलासन का घूम-घूम कर प्रशासनिक भवन,बालक छात्रावास,बालिका छात्रावास,कर्मशाला एवं प्राचार्य कक्ष का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौराण चलते वक्त वे फिसल भी गये जिससे उन्हें हल्की चोटें भी आई। निरीक्षण के दौरान कई प्रकार की अनियमितता पायी गई जिसपर संवेदक को बेहतर तरीके से समय सीमा के अंदर कार्य पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होने बताया कि पाॅलटेक्निक महाविद्यालय कलासन चालू हो चुका है। यहां चार विषयों यथा सिविल,मैकेनिकल,इलेक्ट्रिकल,इलेक्ट्रोनिक्स की पढ़ाई होगी। कुल नामांकन 240 में से 155 बच्चों का नामांकन किया गया है। सत्र 2016-17 की पढ़ाई भी शुरू कर दी गई है जो पाॅलटेक्निक महाविद्यालय राघोपुर में प्रारंभ है। जैसे ही कलासन में भवन निर्माण का कार्य पूरा हो जाऐगा वैसे ही यहाॅ सिफ्ट करा दिया जाऐगा। उन्होने कहा कि कलासन में पाॅलटेक्निक महाविद्यालय होना एक गर्व की बात है लेकिन यहाॅ तक आने के लिए मुकम्मल सड़क व्यवस्था नही है। कलासन में बेहतर चिकित्सा व्यवस्था,आयरन मुक्त पानी,गैंस एजेंसी,दूरभाष एवं बैंक की व्यवस्था नहीं है। इसके अलावे सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण पुलिस कैंप भी नही है।koshixpress

इस महाविद्यालय में  बालिका का नामांकन होना है। समुचित व्यवस्था नहीं होने से मुश्किल हो जायेगी। उन्होने इन सभी समस्याओं को जिला पदाधिकारी शीघ्र ही दूर करने की मांग की है। उन्होने कहा कि निर्माण कार्य के पहले चरण में छात्र-छात्राओं के लिए अलग-अलग चार मंजिला छात्रावास,प्रशासनिक भवन,प्राचार्य कक्ष, आवास,वर्कशाप,तकनीकि कर्मियों एवं व्याख्याता के लिए आवास,चतुर्थ वर्गीय कर्मचारियों के लिए पांच मंजिला आवासीय भवन आदि का निर्माण होगा।

भवन पिर्माण विभाग मधेपुरा के सहायक अभियंता मधुसूदन कुमार कर्ण ने बताया कि भवन का निर्माण कार्य मार्च 2017 तक पूरा करना है लेकिन नवम्बर 16 तक पूरा करा लिया जायेगा। ताकि समय से इस मौके पर प्रो.नवलकिशोर जायसवाल,चन्द्रिका जायसवाल,जवाहर चौधरी ,दीपांशू प्रमोटर एंड बिल्डर प्राइवेट लिमिटेड के अभियंता संतोष कुमार पाण्डेय,शेखर हलधर आदि उपस्थित थे।