बच्चों के जिम्मे अब आंगनबाड़ी केंद्र !

1274

गौतम गोविन्द : बिहार के सहरसा जिले के सत्तर कटैया प्रखंड क्षेत्र की यह तस्वीर देख कर आप खुद समझ सकते है की आंगनबाड़ी केंद्र में आपके मासूम बच्चों के साथ क्या होता है |koshixpress

यह तस्वीर इस बात की जिन्दा सबूत है कि अब मिड डे मील बनाना सहायिका की नहीं ,बल्कि इन दुधमुंहा बच्चों की है।ये घटना ग्राम पंचायत सत्तर वार्ड संख्या 2 ,आंगनबाड़ी केंद्र संख्या -3 की है ,जहाँ की सेविका बेबी कुमारी तथा सहायिका पिंकी कुमारी छोटे- छोटे बच्चों से वर्तन साफ तथा चूल्हा चौका करवाती है। जिस सेविका की जिम्मेदारी है बच्चो की देखरेख एवं उनको शिक्षा की और अग्रसर करना,वहीँ सेविका जब बच्चो के साथ सौतेला व्यवहार करे तो सवाल उठना लाजिमी है। मालूम हो की सहायिका पिंकी कुमारी हर दिन लेट से ही केंद्र पर आती है। तब तकबच्चे बर्तन साफ कर तैयार रहते है।