बाढ़ पीड़ितों ने राहत सामग्री लेने से किया इंकार,घंटो बवाल काटा !

1062
विरोध प्रदर्शन करते ग्रामीण

मधेपुरा (संजय कुमार सुमन) :बाढ़ पीड़ितों के बीच सही तरीके से राहत कार्य नहीं चलाये जाने को लेकर बाढ़ पीड़ितों एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने राहत सामग्री लेने से इंकार करते हुए विरोध प्रदर्शन किया है। इतना ही नहीं फुलौत डाक बंगला चौक पर वितरण करने के दौरान हो हंगामा करते हुए घंटो बवाल काटा। स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने अंचल अधिकारी अजय कुमार के साथ बैठक कर बाढ़ पीड़ितों की समस्या को यथाशीघ्र दूर करने की बात कही है।

 बैठक करते अधिकारी
बैठक करते अधिकारी

बाढ़ पीड़ितो ने सामग्री लेने से इंकार

मालूम हो कि चौसा अंचल प्रशासन द्वारा डाक बंगला चौक फुलौत में राहत सामग्री का वितरण बीते गुरूवार को किया जा रहा था। राहत सामग्री में चूड़ा दो किलो,चना एक किलो,मोमबत्ती छह,माचिस छह,चीनी आधा किलो और नमक आधा किलो शामिल है। इतनी कम सामग्री देने पर बाढ़ पीड़ितो ने लेने से इंकार कर दिया और हो हंगामा करने लगे। स्थानीय जनप्रतिनिधि मुखिया,वार्ड सदस्य,समिति,सरपंच,पंच एवं जिला परिषद ने प्रशासन पर कम राहत सामग्री देने एवं सभी लोगों को राहत सामग्री नहीं देने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन करने लगे। आक्रोशित लोगों का कहना है कि कई बार जिला पदाधिकारी मु0सौहेल ने अपने स्तर से बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों का भ्रमण नौका से कर सभी बाढ़ पीड़ितों को उचित राहत सामग्री देने की बात कहने के बावजूद प्रशासन द्वारा किस तरह राहत सामग्री देने में कंजूसी कर रही है। यह समझ से पड़े हैं। जब तक सही तरीके से राहत सामग्री नहीं दी जायेगी तब तक हम लोग प्रशासन द्वारा दिया जा रहा राहत सामग्री नहीं लेंगे और विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। अंत में अंचल पदाधिकारी अजय कुमार द्वारा आक्रोशित लोगों को काफी समझाने के बाद विरोध प्रदर्शन बंद कर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ एक बैठक की गई।

नाद को ही बनाया नाव

बैठक में अंचल पदाधिकारी अजय कुमार ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जो निर्देश दिया गया है। उसी के आधार पर राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है। सभी बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री उपलब्ध करवाया जायेगा। बाढ़ पीड़ितों की सूची बनाई जा रही है। उन्होने जनप्रतिनिधियों से कहा कि आपदा के समय आप प्रशासन को सहयोग करें। प्रशासन हर संभव सहायता देने के लिए तैयार है। आप भी बाढ़ पीड़ितों का सूची तैयार करें। कर्मचारी द्वारा तैयार किया गया सूची से मिलान कर उसे भी राहत सामग्री दिया जायेगा। एक भी लोग राहत सामग्री लेने से वंचित नहीं रहेंगे।

बैठक में जिला परिषद अनिकेत कुमार मेहता,फुलौत पश्चिमी मुखिया पंकज कुमार मेहता,फुलौत पूर्वी मुखिया बबलू ऋषिदेव,मोरसंडा मुखिया विद्यानंद पासवान,समिति मुकेश कुमार मंडल,राजकुमार साह,सरपंच जयनारायण मेहता,चिरौरी मुखिया प्रतिनिधि पवन मुनी,सरपंच संतोष भगत समेत सैकड़ो ग्रामीण उपस्थित थे।
सीओ अजय कुमार कहते हैं कि चौसा प्रखंड के छह पंचायत फुलौत पूर्वी,फुलौत पश्चिमी,मोरसंडा,लौआलगान पूर्वी,लौआलगान पश्चिमी एवं चिरौरी पंचायत को शामिल किया गया है। करीब 55 सौ की आबादी बाढ़ से प्रभावित है। 31 नावों का परिचालन किया जा रहा है। सभी बाढ़ पीड़ितों को सरकार की ओर मिलने वाली सहायता प्रदान की जायेगी।