एक दिवसीय राजयोग मेडिटेशन सह मानसिक शांति कार्यशाला आयोजित !

1315
उद्घाटन करते अतिथि

मधेपुरा (संजय कुमार सुमन) : राजयोग ध्यान द्वारा सर्व समस्याओं के समाधान के लिए माँ दुर्गा कला मंच चौसा परिसर में प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी  ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर एक दिवसीय राजयोग मेडिटेशन सह मानसिक शांति कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन प्रखड प्रमुख शंभू प्रसाद यादव ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया |

कार्यशाला में प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी विश्वविद्यालय के राजयोगिनी ब्रह्मा कुमारी प्रभा बहन ने कहा कि मानवीय गुणों के उत्थान किये बिना मानव का विकास संभव नहीं है। मानव के पास सुख के सभी साधन रहने के बावजूद वह सुखी नहीं है। जब तक मानव में अहंकार की भावना खत्म नही होगा तब तक उसके जीवन में खुशी नही आ सकती है। जीवन में परिवत्र्तन करना अनिवार्य है। समय पर किया गया हर काम शोभा देता है। समय बहुत ही मुल्यवान है। मानव का जीवन परिस्थितियों से घिरा है। मानव के जीवन में आध्यात्मिक का होना बहुत जरूरी है। इसके बिना मानव का जीवन बेकार है। उन्होनें कहा कि आत्मा का महत्व है ना कि शरीर का। शरीर से आत्मा के निकल जाने के बाद शरीर का कोई महत्व नही रह जाता है। परमात्मा की महिमा अपरपार है। परमात्मा सर्वशक्तिमान है। आदमी सब कुछ जानते हुए भी अज्ञान रूपी

प्रभात फेरी में शामिल श्रद्धालु,
प्रभात फेरी में शामिल श्रद्धालु

निन्द्रा में खो रहा है। उन्होनें आमलोगों से प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी विश्वविद्यालय से जुड़ कर आध्यात्मिक तरीके से जीवन निर्वाह करने का आह्वान किया।

कार्यक्रम को ब्रह्मा कुमारी सुगा माता, ब्रह्मा कुमारी शोभा बहन,संजू भाई,प्रवास भाई,योगेन्द्र भाई,गोविन्द भाई,कैलाश भाई आदि ने राजयोग मेडिटेशन,स्वस्थ जीवन पद्धति,तनावमुक्त जीवन,व्यवसनमुक्ति एवं क्रोधमुक्ति,मानसिक शांति कार्यशाला,जीवन जीने की कला और खुशनुमा जीवन आदि पर चर्चा की।

उद्घाटन के मौके पर पूर्व जिला परिषद सदस्य मनोज राणा,चौसा पश्चिमी सरपंच प्रतिनिधि गजेन्द्र प्रसाद यादव,पंच चन्देश्वरी साह,जवाहर चैधरी आदि उपस्थित थे। इस मौके पर पल्लवी कुमारी ने स्वागत नृत्य प्रस्तुत कर आये हुए अतिथियो का स्वागत किया। कार्यक्रम के पूर्व प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी विश्वविद्यालय से जुड़े श्रद्धालुओं ने प्रभात फेरी निकाल कर आमलोगों को ईश्वर से जुड़ने का संकल्प कराया। कार्यक्रम के सफल आयोजन में ब्रह्मा कुमारी सोम,रंजीत कुमार गुप्ता,अजय कुमार गुप्ता की भूमिका सराहनीय रही।