कोसी का कहर :विधायक ने लिया कटाव का जायजा !

1876
तस्वीर में कोसी का कहर

सहरसा (ब्रजेश भारती) : पूर्वी तटबंध के कछार पर अवस्थित सलखुआ प्रखंड के बगैवा गांव में कोसी नदी के कारण हो रहे कटाव का जायजा लेने सोमवार को सिमरी बख्तियारपुर विधायक दिनेश चन्द्र यादव , पूर्व विधायक डॉ० अरूण कुमार , एसडीओ सुमन प्रसाद साह पहुंचे।

कोसी में विलीन होता घर
कोसी में विलीन होता घर

विधायक दिनेश चन्द्र यादव ने कोसी नदीं के तेज कटाव से  बगेवा गांव को कटते देख भोचक रह गये । उन्होने सभी कटाव पीड़ित व अन्य नदीं किनारे बसे ग्रामीणों से आग्रह कर कहा कि नदीं का रूख व कटाव का कोई ठिकाना नहीं है आप सब सुरक्षित स्थान पर शरण ले ले ।

कहर कोसी का जारी
कहर कोसी का जारी

कटाव से भयभीत ग्रामीणों ने कहा कि कोसी मैयया का अजब गजब लीला निराली है कब कहा कहर ढ़ा दे पता भी नहीं चलता है और देखते हि देखते एक एक घर नदीं के तेज कटाव से नदीं में वीलीन होते जा रहा है। विधायक ने कटाव का भयावह स्थिति को देख सिचाई मंत्री ललन सिंह से मोबाईल से बात कर कटाव निरोधी कार्य के लिए बात किया गया। सिचाई मंत्री ने विधायक श्री यादव से कहा कि अभियंताओ की टीम को कटाव स्थल पर भेज कर स्थल जांच कराया जाएगा। इस मौके पर अनुमंडल पदाधिकारी सुमन प्रसाद साह आदि उपस्थित थे।

कटाव देखते विधायक दिनेश चन्द्र यादव सहित अन्य
कटाव देखते विधायक दिनेश चन्द्र यादव सहित अन्य

वहीं ग्रामीणों का शिकायत था कि गत 3 – 4 वर्षों से विभाग की ओर से सरकारी खजाने की लाखों रुपये यहां बाढ़ की पानी के साथ बहा दिए जाते हैं। किन्तु कटाव रोकने में यह सफल साबित नहीं होता। कटाव निरोधी कार्य के नाम पर बांस व बालू भरे बोडे तो डाले गये थे लेकिन फिर भी बगेवा गांव नदीं के तेज कटाव बर्दास्त नहीं कर पाया ।

वगैवा में उफनती कोसी
वगैवा में उफनती कोसी

और बगेवा गांव मिटने के कगार पर पहुंच गया।  बल्कि साधारण बाढ़ की झोंके बांस पाईलिंग को बहा ले जाते। ग्रामीणों का कहना था कि यहां बोल्डर पाईलिंग की व्यवस्था कर कटाव को रोका जा सकता है। ग्रामीणों ने विधायक से शिकायत किया कि प्रतिवर्ष दर्जनों लोग बाढ़ के कारण विस्थापित हो रहे हैं। किन्तु प्रशासन की ओर से पुर्नवास की व्यवस्था अब तक नहीं हुई है। विधायक ने कहा सारी समस्याओं को लेकर डीएम से शीघ्र बात करेंगे।

मौके पर जद यू नेता अंजुम हुसैन , पूर्व प्रखंड बीस सूत्री अध्यक्ष उदय कुमार सिंह . पूर्व उप प्रमुख चंदेश्वरी प्रसाद यादव .  अकलू दास . विरेन्द्र यादव आदि मौजुद थे।