लाजपत पार्क में दो दिवसीय सातवां गुरु पूर्णिमा महोत्सव शुरू !

1595

भागलपुर (मुकेश कुमार मिश्र ) : लाजपत पार्क मैदान में दो दिवसीय सातवां गुरु पूर्णिमा महोत्सव सोमवार को शुभारंभ हुआ। सुबह वैदिक मंत्रोउच्चारण के साथ वेदी पूजन किया गया। एवं दिनभर गुरु दीक्षा का कार्यक्रम चलता रहा। सैकड़ों लोगों ने परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज से गुरु दीक्षा प्राप्त किया।

हमारा देश गुरु शिष्य के लिए विख्यात हैं –कुलपतिkoshixpress

वहीं संध्या को धर्म मंच का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर तिलकामाझी भागलपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो०डा० रामाशंकर दूवे ,प्रोoडाoतपेश्वर नाथ,डाo ज्योतिचन्द्र चौधरी,प्रो० बहादुर मिश्र,विधान पार्षद डा० संजीव सिंह,उपमहापौर श्रीमती डा० प्रीति शेखर,जिला परिषद अध्यक्ष आनन्द कुमार,डाoनितीश दूवे, प्रभात खबर के संपादक बृजेन्द्र दूबे , सीटीएस एसपी अभय कुमार लाल,प्रो० डा० नृपेन्द्र बर्मा, पूर्व विधायक कुमार शैलेश, परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज आदि शिक्षा विद् एवं गण्यमान्य लोगों किया

सुबह से गुरु दर्शन होगीkoshixpress

सर्वप्रथम उपस्थित मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि को माल्यार्पण किया गया। उपस्थित मुख्य अतिथि ने परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज का माल्यार्पण किया। तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के कुलपति ने अपने सम्बोधन में कहा कि हमारा देश गुरु शिष्य के लिए विख्यात हैं।हजारों वर्षों से यह परंपरा चलती आ रही हैं।आज भी गुरु कुल की परंपरा हमारे देश में है। गुरु पूर्णिमा संस्कृत के प्रकांड विद्वान महर्षि वेद व्यास के लिए समर्पित है। उनका जन्म आषाढ़ माह के पूर्णिमा के दिन हुआ था।गुरु। आध्यात्मिक चेतना का विकास करते हैं। अंधकार से प्रकाश में ले जाते हैं। 

लाजपत पार्क मैदान में उमड़ी भक्तों की भीड़ koshixpress

गुरु का सम्मान हमारे जीवन में महत्वपूर्ण है। गुरु के बिना हम ज्ञान नहीं पा सकते हैं। गुरु के बिना जीवन अधुरा रहता है। गुरु अपने शिष्यों के बारे में सोचते हैं कि मेरा शिष्य हमसे से भी आगे बढे। उन्होंने द्रोणाचार्य एवं एकल्व की चर्चा विस्तार पूर्वक से किये। इसके अलावा अन्य विद्वानों ने भी गुरु पूर्णिमा महोत्सव पर विस्तार पूर्वक से अपना विचार प्रकट किये।वहीं परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज ने अपने सम्बोधन में कहा कि मन,प्राण,आत्मा का पर्व हैं गुरु पूर्णिमा। शिष्यों के विशेष  अनुरोध पर भागलपुर की अंग धरती पर यह कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

गुरु दर्शन के लिए देर रात से ही भक्त गण लगे हुए हैं लाइन में

यह व्यास पूर्णिमा भी है। जीव जब गर्भ में रहता है उसका गुरु परमात्मा स्वयं होते हैं। इसलिए संसार में सभी गुरु प्राप्त है।मंच का सफल संचालन मनोज कुमार मिश्र,जय नारायण यादव,रोशन सिंह,पवन कुमार वंटी ने किया। आज सुबह से गुरु दर्शन का कार्यक्रम निर्धारित है।