लड़की बदलने का आरोप लगाने पर बराती की हुई जमकर धुनाई !

1665
थाने में बाराती

सहरसा (ब्रजेश भारती) : कहते है कि किसी भी मनुष्य कि शादी उपर वाले के द्वारा तय कि जाती है मनुष्य सिर्फ उस पर अमल करता है। यह कहावत सही साबित हुआ सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के माहखड़ पंचायत के महतो टोला में वर माला के अंतिम पलों में एक आरोप ने दो दिलों के मिलन को सदा के लिये अलग कर दिया। वे सब बाराती जो शादी में खुशिया मनाने आये वे रात भर थाने में गुजारी।

क्या है पुरा माजरा-

लड़की बदलने के आरोप मे अनुमंडल के माहखड़ गाँव अंतर्गत महतो टोला मे सोमवार देर रात्रि से मंगलवार शाम तक हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ.जिसमे दुल्हन पक्ष के लोगो ने वर पक्ष की ओर से आये बारातीयों की जमकर पिटाई करते हुए को लगभग चौबीस घंटे तक दूल्हा सहित सभी बारातियों बंधक बना कर रखा।

यूँ बिगड़ा मामला-           रात भर सभी बाराती ने थाने में बिताई रात

जानकारी मुताबिक बेगुसराय जिला अंतर्गत लक्ष्मिनियाँ गाँव निवासी जयप्रकाश साह के पुत्र अंगद कुमार की शादी माहखड़ गाँव निवासी रामचन्द्र साह की पुत्री पूजा से तय हुई और बीते सोमवार बाराती रात एक बजे के लगभग माहखड़ पहुंची.गाँव वाले बारात देर से आने से नाराज थे की इसी बीच जयमाला के दौरान वर को माला पहना रही दुल्हन को देख वहां खड़े दुल्हे के मौसेरे भाई ने लड़के को लड़की बदले होने की बात कही.यह सुनते ही दूल्हा तमतमा उठा और दुल्हन द्वारा पहनाये माला को उतार कर फेंक दिया और जयमाला स्टेज से उतर गया।

बाराती बने बंधक, उपहार राशि लौटाने की मांग-

सोमवार रात्रि जयमाला स्टेज से वर के उतर जाने के बाद मामला गर्म हो गया और जिसके बाद वधु पक्ष के लोगो ने शादी से इंकार करते हुए दिए गये उपहार की मांग की.जिसे वर पक्ष के लोगो ने देने से इंकार कर दिया और जिसके बाद वधु पक्ष ने नही देने तक बारातियों को बंधक बनाने की बात कह बंधक बना लिया.सोमवार देर रात्रि से मंगलवार शाम तक अधिकांश बाराती बंधक बने रहे और इसी बीच कुछ बाराती मौका देख कर फरार हो गये और उन्होंने बेगुसराय पहुँच सारा मामला पुलिस को बताया और तत्पश्चात बेगुसराय पुलिस ने सहरसा पुलिस से सम्पर्क कर सारे मामले की जानकारी दी.इसके बाद बख्तियारपुर थानाध्यक्ष महेंद्र प्रसाद दल-बल के साथ मंगलवार शाम पांच बजे वधु के घर पर गये और बंधक बारातियों को छुड़वाया।

बयान की रात-

मंगलवार शाम बख्तियारपुर प्रशासन द्वारा बंधक बनाये बारातियों को थाने लाने के उपरांत शाम से देर रात्रि तक गहमागहमी का माहौल रहा.इस पुरे मामले पर वर पक्ष से लड़के के पिता ने बताया कि देर से पहुँचने की वजह से हमारे साथ इस तरह का व्यवहार किया गया.वही वधु पक्ष की ओर से लड़की के दादा बद्री साह ने बताया कि लड़की बदलने का आरोप लगा हमारे साथ दुर्व्यवहार किया गया.वही बख्तियारपुर थानाध्यक्ष महेंद्र प्रसाद ने बताया कि बंधक बारातियों को सकुशल थाने ले आया गया है, जांच कर कार्यवाई की जायेगी।