सड़क निर्माण में अनियमिता ,कार्यपालक अभियंता ने की जांच पड़ताल !

1209
सड़क को जांच करते पदाधिकारी

मधेपुरा (संजय कुमार सुमन) : प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अन्तर्गत 44 लाख की लागत से कृष्ण मंदिर चौसा बस्ती से कन्या मध्य विद्यालय चैसा तक निर्माणाधीन सड़क में बड़े पैमाने पर अनियमितता बरते जाने की शिकायत मिली है। ग्रामीणों के शिकायत पर पूर्व मंत्री सह क्षेत्रीय विधायक नरेन्द्र नारायण यादव ने कार्य को बंद करने का आदेश दिया है। गलत तरीके से कार्य किये जाने को लेकर स्थानीय लोगों ने कई बार कार्य को बंद कराकर संवेदक धनंजय कुमार सिंह के विरूद्ध हंगामा भी किया था।

koshixpressस्थानीय ग्रामीण अबुसालेह सिद्दीकि,बेचन साह,राबिया शाहीन,अब्दुर कादीर,इजहार अंसारी,एहरार आलम समेत दर्जनों लोगों ने जिला पदाधिकारी को लिखित आवेदन देकर कहा है कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अन्तर्गत 44 लाख 78 हजार की लागत से कृष्ण मंदिर चौसा बस्ती से कन्या मध्य विद्यालय चौसा  तक सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। निर्धारित समय के बाद बन रही सड़क में संवेदक द्वारा बड़े पैमाने पर अनियमितता बरती जा रही है। सड़क निर्माण में बरती जा रही अनियमितता को लेकर कई बार हमलोगों ने हंगामा भी किया पर संवेदक अपनी मनमानी पर तुले रहे। ग्रामीणों ने कहा कि कार्य स्थल पर संवेदक द्वारा जो सूचना पट्टिका लगाया गया है वह आधा अधूरा ही है। संवेदक द्वारा मार्च 2016 में ही सड़क का निर्माण कार्य को पूरा करना था। समय बीत जाने के बाद आनन फानन में सड़क का निर्माण कार्य नियमों को ताक पर राख कर किया जा रहा है। ग्रामीण बताते हैं कि संवेदक धनंजय कुमार सिंह की मनमानी चरम पर है। काम बंद करने का आदेश क्षेत्रीय विधायक द्वारा दिये जाने के बाद भी संवेदक द्वारा कार्य को बंद नहीं किया गया। जब ग्रामीण हो हंगामा किया तब काम को बंद किया गया। यह मनमानी नही है तो क्या है।

ग्रामीणों द्वारा डीएम को दिये गये आवेदन पर क्षेत्रीय विधायक नरेन्द्र नारायण यादव ने भी अपना मंतव्य देते हुए निर्माणाधीन सड़क को जांच होने तक कार्य को बंद करने का आदेश दिया है। ग्रामीणों के शिकायत पर उदाकिशुनगंज के ग्रामीण कार्यपालक अभियंता सतीश चैधरी ने कार्य स्थल का अपने स्तर से जांच पड़ताल की। सड़क निर्माण में बरती जा रही अनियमितता को लेकर कार्यपालक अभियंता ने संवेदक को सही तरीके से कार्य करने का निर्देश दिया है |