परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज की उपस्थिती में गुरू पूर्णिमा महोत्सव धूमधाम से मनाने को लेकर बैठक आयोजित !

3240
खगड़िया/भागलपुर  (मुकेश कुमार मिश्र ) : शनिवार को लाजपत पार्क के मैदान में शिव शक्ति योग पीठ नवगछिया संस्था के स्वयंसेवको  द्वारा 19 जूलाई को गुरु पूर्णिमा महोत्सव मनाने  को लेकर एक आम बैठक आयोजित की गई। बैठक में शिव शक्ति योग पीठ नवगछिया,भागलपुर संस्था के निर्माता परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज खुद उपस्थित थे। सातवां गुरु पूर्णिमा महोत्सव शहर के लाजपत पार्क में धुम धाम से मनाने को लेकर आम सहमति बनी। इस बैठकर में अंग क्षेत्र के अलावा कोसी इलाके से काफी संख्या में लोग उपस्थित थे। सर्वप्रथम उपस्थित लोगों ने परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज का माल्यार्पण  किया।
 भव्य पंडाल का होगा निर्माण  koshixpress
लाजपत पार्क के मैदान में भव्य धर्म मंच का निर्माण कर रंग बिरंगे  फूलों की पंखुड़ियों से सुसज्जित किया जाएगा। आमलोगों के लिए विशाल पंडाल का निर्माण किया जाएगा। शिव शक्ति योग पीठ नवगछिया की ओर से बेहतर तरीके से व्यवस्था की जाएगी। गुरु भाई एवं बहनें कतार बद्ध होकर गुरु जी से आशीर्वाद प्राप्त करेंगे। ताकि किसी को कोई परेशानी न हो। सभी  विभाग में  कमिटी का  गठन  किया गया ।
पच्चीस हजार से अधिक भक्त गण पहुँचेगें
सातवां गुरु पूर्णिमा महोत्सव में इस बार पच्चीस हजार से अधिक भक्त गण पहुंचेंगे। बिहार के लगभग सभी जिले से एवं रांची,धनबाद,बोकारो,लखनऊ,वाराणसी, जयपुर,दिल्ली,बेंगलुरु,कलकत्ता,मुम्बइ,चेन्नई,इंदौर,जबलपुर,असम,हैदराबाद,जम्मू कश्मीर आदि शहरों में निवास कर रहे स्वामी के शिष्य इस पावन पर्व पर उपस्थित होकर गुरु जी से आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। गुरु पूर्णिमा के दिन भक्तों के हाथों में रंग बिरंगे फूल जो गुरु जी के चरणों में अर्पित होगा। एवं प्रसाद के रूप में तरह तरह की मिठाई का अनुपम छटा देखने को मिलेगा है।
शिव शक्ति योग पीठ संस्था का उद्देश्य

अंग की धरती पर परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज अवतार लिए।घर घर में आध्यात्मिक ज्योति जलाकर लोगों को भगवान नाम का रस पान करा रहे हैं। दर्जनों गांवों में लोगों को  आध्यात्मिक,धार्मिक,समाजिक कार्यों में जोड़ कर सुन्दर सा परिवार बना दिए हैं। आज इन   संस्था से लाखों की संख्या में लोग जुड़े हुए हैं। संस्था का मुख्य उद्देश्य धार्मिक कार्यों का आयोजन,मठ,मंदिर,धर्मशाला,गोशाला,विद्यालय,अस्पताल का निर्माण,आपदा के समय पीड़ितों की मदद,दिन दुखियों बच्चों महिलाओं के सर्वांगीण कल्याण हेतु हैं। यह संस्था   लगातार छ: वर्षों से गुरु  पूर्णिमा महोत्सव मनाते आ रहे हैं।

परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज
परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज
गुरु पूर्णिमा का महत्व
जीवन में गुरु एवं शिष्य के महत्व आने वाले पीढ़ी को बताने के लिए यह दिन एक आदर्श है।गुरु का आशीर्वाद सर्वाधिक कल्याणकारी एवं ज्ञानवर्धक होता हैं। यह महोत्सव संस्कृत के प्रकांड विद्वान चारों वेद के रचयिता महर्षि वेद व्यास को समर्पित हैं।उनका जन्म आषाढ़ माह के पूर्णिमा के दिन हुआ था। उनके सम्मान में यह पर्व या महोत्सव भारत में धुम धाम से मनाया जाता है। गुरु पूर्णिमा के दिन शिष्य अपने गुरु से आशीर्वाद प्राप्त करते हैं।गुरु पूर्णिमा के दिन हजारों की संख्या में महिला एवं पुरुष गुरु जी से दीक्षा प्राप्त करेंगे।
परिवारों का संगम स्थल
गुरु पूर्णिमा के दिन बुढे ,बच्चे नौजवान ,माता एवं बहनें गुरु जी से आशीर्वाद पाने के लिए लाइन में कतार बद्ध होकर अपने बारी का इंतजार करते हैं। उस दिन सभी परिवारों का एक संगम स्थल बन जाता है। सभी परिवार एक दूसरे से मिलकर आनंदित हो जाते हैं। जो भी हो अंग की धरती पर गुरु पूर्णिमा के दिन एक अद्भुत नजारा देखने को मिलता हैं। गायन कलाकार अपने संगीत से  दिन भर लोगों का मन मोह लेता हैं।
शहर में आयोजन को लेकर काफी उत्साह
सातवां गुरु पूर्णिमा महोत्सव इस बार भागलपुर शहर में मनाने की खबर सुनकर लोग काफी उत्साहित हैं। शिव शक्ति योग पीठ नवगछिया के सभी सदस्यों को इसकी सूचना सार्वजनिक कर दी गई है। सभी लोग अपने अपने कार्य में लग गए हैं। स्वामी आगमानंद परिवार के सदस्य गुरु पूर्णिमा महोत्सव की तैयारियों में जुट गए हैं। इस बैठक में सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे। पुनः अगली बैठक 14 जूलाई को होगी।