दो बच्चों के पिता ने रचाई दूसरी शादी,पहली पत्नी ने लगाई न्याय कि गुहार !

1460

सहरसा(ब्रजेश भारती) : गाड़ी बंग्ला,झुमके कंगना सब कुछ दे देना उसको सजना पर दिल ना देना सौतन को, ये गुहार भी जब कामयाब नही हुआ मजबुर पत्नी को तो अंत में पुलिस की शरण में जा कर न्याय कि गुहार लगाई है। मामला बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के बलवाहाट ओपी के मौरकाही गांव कि है।पीडिता पत्नी रम्भा देवी ने थाना में ससुर, सास, ननद,देवर पर मामला दर्ज किया है। दर्ज प्राथमिकी मे पीड़ीता रम्भा देवी ने कहा कि आज से 8 वर्ष पूर्व मेरी शादी वलवाहाट ओपी के मोरकाही गांव निवासी प्रेमलाल यादव के पुत्र फनटुस यादव के साथ हिन्दू रिती-रिवाज के साथ हुई थी। उस वक्त शादी में मेरे पिता के द्वारा 1 लाख 51 रूप्या नगद के आलावे जेवरात, कपडा, वर्तन सहित कई सामान दिया था। शादी बाद दो लडका सोनू कुमार 7 वर्ष एवं शिवन कुमार 4 वर्ष जन्म लिया। शादी के बाद से ही मेरे ससुराल वाले दान-दहेज के लिये तंग,तवाह के साथ प्रताड़ित करते थे।

पहली पत्नी के लिखित आवेदन पर थाना में मामला दर्ज

पति भी इस बात के लिये उन्ही लोगो का साथ दे रहे थे।उस वक्त जब मेरा पहला बेटा सोनू कुमार गर्भ में था तो दवा खिलाकर बच्चे गिराने का भी प्रयास पति सहित ससुराल वालो ने किया। इस बात की जानकारी मैने अपने पिता को दिया। मेरे पिता ने मोरकाही पहुच विगत 28 जून 09 को गांव में पंचायत भी बैठाया। उस समय वलवाओपी के हस्क्षेप से मामला शांत हुआ था। कुछ समय के लिये सब कुछ सही रहा पर फिर उसके बाद ससुराल वाले प्रताडित करने लगा। विगत 26 जून 16 को मेरे ससुराल वाले ने दहेज की लालच में मेरे पति फनटुस यादव की शादी सलखुआ थाना के खजुराहा गांव मे करवा दिया है। पुलिस ने ससुर प्रेमलाल यादव, देवर विपीन यादव, ननद लीला देवी, सास खखरी देवी व उड़िया देवी पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दिया है।